हरियाणा सरकार ने किया रानी नागर का इस्तीफा नामंजूर, भड़ाना ने बताया गुर्जर समाज की जीत

0
1093
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 7 मई आईएएस रानी नागर का इस्तीफा हरियाणा सरकार द्वारा नामंजूर किए जाने पर गुर्जर समाज ने हर्ष व्यक्त किया है। किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव राकेश भड़ाना ने इसे गुर्जर समाज की जीत बताया है। उन्होंने उक्त मामलेे में बड़ी जांच एजेसी से जांच की मांग करते हुए दोषी अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की मांग भी प्रदेश सरकार से की है। उन्होंने कहा कि रानी नागर द्वारा लगाए गए आरोपों को देखते हुए आरोपी अधिकारी को छुटटी पर भेज कर मामले की निष्पक्ष जांच करानी अति आवश्यक है। सरकार अपनी भूल सुधारते हुए महिला अधिकारी का इस्तीफा मंजूर न किए जाने पर उन्होंने हर्ष व्यक्त किया और सरकार के निर्णय की सराहना की। ज्ञातव्य है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा 2014 हरियाणा कैडर की आईएएस अधिकारी रानी नागर द्वारा अपने सीनियर आईएएस अधिकारी सुनील गुलाटी पर यौन शोषण व उत्पीडऩ का आरोप लगाया था। मामले में कोई सुनवाई न होते देख हताश होकर रानी नागर ने इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद यह मामला तूल पकडऩे लगा और गुर्जर समाज के अनेक नेता उनके समर्थन में आ गए। किसान कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव राकेश भड़ाना ने तो लॉकडाउन खुलने के बाद दिल्ली कूच करने और जंतर-मंतर पर प्रदर्शन का ऐलान भी कर दिया था। मगर, हरियाणा सरकार द्वारा इस्तीफा नामंजूर किए जाने पर उन्होंने संतोष व्यक्त किया और इसे गुर्जर समाज की जीत बताया।