यूनिवर्सल अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ्य जांच की गई

0
386

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :16 मई। वैश्विक महामारी कोविड-19 के मद्देनजर देश में चल रही तालाबंदी के दौर में अपने घरों को पैदल ही लौट रहे कुछ प्रवासी मजदूरों की आज यूनिवर्सल अस्पताल के डाॅक्टरों द्वारा स्वास्थ्य जांच की गई और अस्वस्थ पाए जाने पर उपचार किया तथा दवाएं उपलब्ध कराईं।
इस अवसर पर यूनिवर्सिल अस्पताल के हृदय, नस व फेफड़े रोग विशेषज्ञ डॉ. शैलेश जैन ने कहा कि उनका अस्पताल गरीबों व जरूरतमंदों की सेवा को हमेशा तत्पर रहा है तथा इसी उद्देश्य को लेकर उन्होंने आज राष्ट्रीय राजमार्ग पर पैदल ही अपने परिजनों के साथ अपने गृह राज्यों को लौट रहे प्रवासी मजदूरों की स्वास्थ्य जांच की। इस दौरान डाॅक्टरों ने इन प्रवासी मजदूरों को सामाजिक दूरी का पालन करने का आह्वान किया क्योंकि कोविड-19 महामारी छुआछात वाली बीमारी है जो कि एक-दूसरे के संपर्क में आने से तेजी से फैलती है, इसलिए इसके बचने का सबसे सरल उपाय शारीरिक दूरी बनाकर रखना है तथा समय-समय साबुन से हाथ धोते रहना चाहिए।
इस मौके पर अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ. रीति अग्रवाल, फीजिशियन एवं डायबिटीज रोग विशेषज्ञ डाॅ. परितोष मिश्रा, हड्डी रोग विशेषज्ञ डाॅ. तनीर मकबूल, डा. अशोक चैधरी,  डाॅ. रवि, डाॅ. सरफरात पाशा, डाॅ. सूचि, डाॅ. जहांगीर मलिक तथा डाॅ. अनुज ने प्रवासी श्रमिकों व उनके परिजनों की स्वास्थ्य जांच की।
वहीं डाॅ शैलेष जैन ने इन प्रवासी श्रमिकों से कहा कि चाहे यूपी, बिहार या मध्यप्रदेश के मजदूर हो, इस विपत्ति के दौर में देश व प्रदेश सरकारों ने उनके रहने व खाने का पर्याप्त इंतजाम किए हैं, ऐसे में उन्हें भी संयम रखना चाहिए और इस महामारी से बचने के लिए सरकारों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए उन्होंने श्रमिकों से आह्वान किया कि उन्हें रोजगार भी मिलेगा और रहने-खाने पीने की समुचित व्यवस्था मिलेगी क्योंकि यही हरियाणा प्रदेश पहले की तरह उन्हें उन्नत बनाने का काम करेगा।