34वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में जनगणना निदेशालय की स्टॉल का किया शुभारंभ

0
251

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 02 फरवरी। 34वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले में रविवार को भारत के महा-रजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त विवेक जोशी ने मेले में जनगणना निदेशालय हरियाणा की स्टॉल का शुभारंभ किया। इस अवसर पर जनगणना कार्य निदेशालय हरियाणा की निदेशक प्रेरणा पुरी भी उपस्थित रही।
भारत के महा-रजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त विवेक जोशी ने बताया कि  इस स्टॉल का विशेष आकर्षण ‘जनगणना व्हील‘ है जिस पर जनगणना के संबंध में प्रश्न अंकित है और उसमें भागीदारी के लिए सभी को निश्चित पुरस्कार भी दिया जा रहा है। इसमें जनगणना के आंकड़ों का प्रदर्शन भी आमजन की जानकारी के लिए किया गया, जिसमें देश के विभिन्न हिस्सों से उपस्थित छात्रों ने आंकड़ों के संकलन में अत्यधिक रूचि प्रदर्शित की। जनगणना स्टाल पर जनगणना संबंधी आंकड़े, प्रकाशन, पुस्तकें इत्यादि 70 प्रतिशत  तक छूट पर उपलब्ध है । इसके अतिरिक्त जनगणना स्टाल पर फोटो बूथ लोगों को पसन्द आ रहा है, जहां खड़े होकर पर्यटक फोटो खिंचवा रहे हैं । विभाग द्वारा मेले में जनगणना विषय पर प्रश्नोत्तरी, चित्रकला, स्लोगन लेखन, निबंध लेखन जैसी प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।  इन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा।
जनगणना कार्य विभाग की निदेशक प्रेरणा पुरी ने बताया कि जनगणना-ऐप के बारे में जनगणना विभाग प्रदेश की जनता को जानकारी व जागरूकता के लिए सतत् प्रयास जारी रखे हुए है। हरियाणा में डिजिटल मोड जनगणना 2021 के प्रथम चरण-मकान सूचीकरण का कार्य आगामी एक मई, से 15 जून, 2020 के बीच किया जाएगा। राज्य में आयोजित सूरजकुण्ड अंतरराष्ट्रीय मेले में जनगणना विभाग की ओर से स्टाल लगाए जाने से जनगणना का प्रचार व प्रसार व्यापक स्तर पर होगा। पहली बार डिजिटल मोड पर प्रदेश में जनगणना का कार्य किया जाएगा। प्रगणकों द्वारा विशेष रूप से डिजाईन किए गए मोबाईल एप्प पर आंकड़े एकत्रित किए जाएंगे। जिससे जनगणना आंकड़े समय पर जारी हो सके। जनगणना के दौरान होने वाली हर गतिविधि से अधिकारी व कर्मचारियों को अवगत करवाया जाएगा। हरियाणा राज्य में जनगणना-2021 की सभी गतिविधियों का अनुवीक्षण समयानुसार सीएमएमएस पोर्टल पर होगा जोकि इस कार्य के लिए डिजाईन किया गया है।
इस मौके पर विवेक जोशी ने जनगणना-2021 के प्रचार-प्रसार को प्रभावशाली ढंग से प्रचारित करने के दृष्टिïगत अंबाला के जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी धर्मवीर ङ्क्षसह द्वारा रचित जागरूकता रागिनी सीडी का विमोचन किया और डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह को शाल भेट करके सम्मानित किया। इस मौके पर निदेशक प्रेरणा पुरी भी मौजूद रहीं।
हरियाणा की इस प्रसिद्घ रागिनी के गायक जनसंपर्क विभाग के ही कलाकार सुमेरपाल है। डीआईपीआरओ धर्मवीर सिंह ने बताया कि यह ऑडियो सीडी सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के कलाकारों के माध्यम से प्रचार के दृष्टिïगत अन्य जिलों को भी भेजी जाएगी ताकि जनगणना बारे लोगों को सहयोग के लिए जागरूक किया जा सके। इसके माध्यम से जन-जन को जनगणना के महत्व व उसकी प्रक्रिया के संबंध में अवगत करवाया गया है। इस अवसर पर पूर्व एचसीएस अधिकारी पी.के. शर्मा, जिला सांख्यिकी अधिकारी जे एस मलिक व अन्य अधिकारी भी साथ थे।
बाक्स–
भारत में प्रति दस वर्ष बाद जनगणना करवाई जाती है। इसकी शुरुआत देश में 1872 से की गई थी। अब की बार 16वीं जनगणना की जाएगी। जनगणना के आधार पर ही देश में सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं व परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है। प्रदेश में स्थायी संरचना वाले परिवारों, अपने स्वामीत्व वाले घरों, एलपीजी का उपयोग, स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति, घरों में शौचालय की व्यवस्था सहित अनुसूचित जाति तथा जनजाति और साक्षारता, सीनियर सिटीजन सहित अन्य योजनाओं का क्रियान्वयन जनगणना के आधार पर किया जाता है।