लघु सचिवालय में बने माडर्न रिकार्ड रूम का किया उद्घाटन

0
233

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 08 फरवरी। हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव व राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के वित आयुक्त धनपत सिंह ने लघु सचिवालय में बने माडर्न रिकार्ड रूम का उद्घाटन किया तथा माडर्न रिकार्ड रूम का अवलोकन किया व राजस्व रिकार्ड की ऑनलाइन प्रक्रिया का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि जिला की फरीदाबाद, बल्लबगढ़ व बङख़ल तहसील तथा उप तहसील तिगांव, धौज, गौंछी, मोहना और दयालपुर से संबंधित जिले के सभी 192 गांवों का रिकार्ड आन लाइन किया जाए। रिकार्ड रूम में जिले से संबंधित भू-रिकार्ड को तरतीब से रखा जाए। सभी बख्शों पर बार कोड लगाए जाएं ताकि रिकार्ड को आसानी से ढूंढा जा सके। एक गांव का रिकार्ड एक ही बख्शा में रखा जाए।
इससे पहले एसीएस ने लघु सचिवालय में राजस्व विभाग की योजनाओं व कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि भविष्य की जरूरत के अनुरूप जिला में बनने वाली सरकारी इमारतों, पार्किंग व कार्यालयों के लिए सभी विभागों को शामिल करते हुए प्लान बनाया जाए और इसकी रिपोर्ट मुख्यालय भेजी जाए। उन्होंने कहा कि जमाबंदी, इंतकाल को पेंडेंसी खत्म की जाएं। हैलरिस पर मुटेशन से संबंधित रिकार्ड को निरंतर अपडेट किया जाए। उन्होंने कहा कि जमाबंंदी, इंतकाल से संबंधित कार्य करने में कर्मचारियों व अधिकारियों को कोई परेशानी आ रही है तो इनकी ट्रेनिंग करवाई जाए। उन्होंने सभी तहसीलदारों से कहा कि रजिस्ट्री के समय खरीददार व बेचने वाले दोनों ही स्वयं उपस्थित होने चाहिएं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं ई-रजिस्ट्री व जमाबंदी जैसे कार्यों की समीक्षा करते हैं। इस कार्य में पूरी पारदर्शिता से कार्य किया जाए। जिला नगर योजनाकार से प्रतिबंधित क्षेत्र की लिस्ट अवश्य लें लें तथा रिकार्ड की जांच-परख के बिना रजिस्ट्री न की जाए। अगर रिकार्ड सही नहीं है तो उचित कारण के साथ रजिस्ट्री को रिफूज किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपनी प्रॉपर्टी रिटर्न अवश्य भरें, ताकि उन्हें विभागीय लाभ समय पर मिलते रहें। ई-गिरदावरी को सरलता से चलाया जाए।  इसके साथ ही उन्होंने राजस्व से संबंधित कोर्ट केसों को भी जल्द निपटाने के निर्देश दिए।
उपायुक्त यशपाल ने बैठक में जिला से संबंधित राजस्व विभाग की गतिविधियों व कार्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम व तहसीलदारों को निर्देश दिए गए हैं कि उनके क्षेत्र से संबंधित कोर्ट केस व जमाबंदी तथा इंतकाल को जल्द निपटाया जाए।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त रामकुमार सिंह, एसडीएम बल्लबगढ़ त्रिलोकचंद, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बडख़ल पंकज सेतिया, नगराधीश बैलीना, जिला राजस्व अधिकारी नरेश कुमार, तहसीलदार सुशील कुमार तथा नायब तहसीलदार जसवंत सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।