नवनियुक्त कर्मचारियों के लिए ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन

0
225

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 20 फरवरी जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आज विश्वविद्यालय के नवनियुक्त कर्मचारियों के लिए एक दिवसीय ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया। विश्वविद्यालय ने हाल ही में एसोसिएट प्रोफेसर, असिसटेंट प्रोफेसर, लैब असिसटेंट और क्लर्क के शैक्षणिक तथा गैर-शिक्षण पदों 17 कर्मचारियों की भर्ती की है।
कार्यक्रम का आयोजन आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ के निदेशक डॉ. हरिओम की देखरेख में किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य नवनियुक्त कर्मचारियों का स्वागत करना और उन्हें विश्वविद्यालय की सुविधाओं, प्रशासनिक और शैक्षणिक प्रणाली, विश्वविद्यालय के नियमों से परिचित कराना था।
कार्यक्रम की शुरुआत कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग के संबोधन से हुई, जिसमें उन्होंने सभी कर्मचारियों का स्वागत किया तथा उन्हें प्रशासनिक प्रक्रियाओं से अवगत कराया। इसके उपरांत सभी कर्मचारियों ने कुलपति प्रो दिनेश कुमार के संवाद किया। कुलपति ने नवनियुक्त कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि वे विश्वविद्यालय के गुणवत्ता मानदंडों को बनाये रखने और सुधार में अपना योगदान दे। इस अवसर पर सभी डीन, चेयरपर्सन तथा विश्वविद्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।
विश्वविद्यालय द्वारा आईआईटी एवं एनआईटी जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों से अनुभव प्राप्त संकाय सदस्यों के चयन पर प्रसन्नता जताते हुए कुलपति ने कहा कि राज्य के तकनीकी विश्वविद्यालयों में जे.सी. बोस विश्वविद्यालय एक अग्रणी शिक्षण संस्थान है, जो गुणवत्ता तथा वरीयता के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने हाल ही में कम समय में नियत प्रक्रिया के तहत काफी संख्या में नियमित कर्मचारियों की नियुक्ति की है और पूरी भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता को सुनिश्चित करने के लिए विश्वविद्यालय ने सभी अनिवार्य मापदंडों को अपनाया है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय अपनी अकादमिक एवं प्रशासनिक सेवाओं में गुणवत्ता लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।
कार्यक्रम के दौरान, डीन (क्वालिटी एश्योरेंस) डॉ. संदीप ग्रोवर ने विश्वविद्यालय के संबंध में सामान्य व्यौरा प्रस्तुत किया। सभी कर्मचारियों को विश्वविद्यालय के प्रत्येक विभाग, अनुभाग और कार्यालय के संबंध में परिचयन दिया गया। डीन (आरएंडडी) डाॅ. राजेश अहूजा तथा डाॅ. मनीषा गर्ग ने विश्वविद्यालय की अनुसंधान सुविधाओं एवं कार्यों का ब्यौरा दिया। डिजिटल इंडिया प्रकोष्ठ की नोडल अधिकारी डाॅ. नीलम दूहन ने विभिन्न डिजिटाइजेशन पहलों तथा परीक्षा नियंत्रक डाॅ. राजीव कुमार तथा सचिन गुप्ता ने परीक्षा नियम एवं प्रक्रिया के बारे में जानकारी दी।
कर्मचारियों ने विश्वविद्यालय परिसर में सभी सुविधाओं और विभागों का अवलोकन भी किया और कार्यक्रम के आयोजन पर प्रसन्नता जताई। कार्यक्रम का समन्वयन डाॅ. महेश चंद, डाॅ. शैलेंद्र गुप्ता तथा डाॅ. साक्षी कालरा द्वारा किया गया।