वाहनों की चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस सतर्क

0
215
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : फरीदाबाद में हो रहीं वाहन चोरी की घटनाओं को लेकर डीसीपी मुख्यालय डॉ. अर्पित जैन ने पुलिस द्वारा चोरी की वारदात पर अकुशं लगाने व वाहन चोरों को गिरफ्तार कर जेल की सलाखों के पीछे भेजने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए है साथ ही उन्होंने वाहन चोरी से बचाव हेतु आम नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी की है।
डॉ अर्पित जैन द्वारा वाहनों को चोरी होने से बचाने के लिए दी गई जानकारी इस प्रकार है:-
अपने वाहनों में चोरी निरोधक यंत्र – व्हीकल टच अलार्म, स्टेरिंग लॉक, गियर लॉक, इग्निशन लॉक, या टायर लॉक आदि लगवाएं ताकि वाहन चोरी ना हो।
वाहनों में जी.पी.एस. ट्रैकर लगवाएं, जिससे कि वाहनों को चोरी होने से बचाया जा सके।
सुनसान स्थानों पर वाहनों को पार्क न करें, हो सके तो सी.सी.टी.वी. कैमरे की पहुंच में गाड़ी खड़ी करें, अन्यथा मार्केट में चौकीदार लगा कर रखें, जिसकी वजह से वाहनों की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।
हो सके तो अपनी गाड़ी को अधिकृत पार्किंग में पाक करें।
जब भी अधिकृत पार्किंग स्थल पर वाहन खड़ा करें तो पार्किंग स्थल पर मौजूद कर्मचारी को गाड़ी की चाबी ना दें।
कहीं भी घर से बाहर गाड़ी पार्क करते समय उसमें कोई कीमती सामान न छोड़े।
गाड़ी खड़ी करते समय सुनिश्चित करें कि कहीं आपका गाड़ी का शीशा तो खुला नहीं रह गया है।
दुपहिया वाहनों के लिए लोहे की चैन लगा कर (जैसे की साईकिल मे लगाते है) अपने दो पहिया वाहन के पहिए को चैन से बांधकर उस पर ताला लगा दे क्योंकि यह सबसे कारगर सस्ता और सुरक्षित तरीका है अपने वाहन को चोरी होने से बचाने के लिए।
डॉ अर्पित जैन ने बताया कि अपराधों के अनुसंधान में पाया गया है कि चोरी किए हुए वाहन किसी न किसी अपराध में प्रयोग किए जाते हैं इसलिए सचेत रहें सावधानियां बरतते हुए तमाम तरह की परेशानियों से बचें।
उन्होंने कहा कि वाहन चोरी को रोकने के लिए पुलिस ने रणनीति तैयार की है। जिस जगह पर सबसे ज्यादा वाहन चोरी होते है उनको चिन्हित किया गया है इस संबंध में सभी चौकी इंचार्ज और एसएचओ को दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।
वहीं घरों और दुकानों में होने वाली चोरी की वारदातों को रोकने के लिए रात्रीकालीन गश्त को बढ़ाया जा रहा है। अपने घर के बाहर व दफ्तर के बाहर सीसीटीवी कैमरा लगाएं।