“सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया गणतंत्र दिवस”

0
203

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 जनवरी दयाल बाग स्थित सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में उपस्थित स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री सत्येंद्र भड़ाना जी, श्री विनोद भड़ाना व प्रधानाचार्या श्रीमती शुभ्रता सिंह, उप प्रधानाचार्या श्रीमती नंदा शर्मा जी एवं सीनियर कोऑर्डिनेटर अमृता शुक्ला व अतिथि श्री विकास सरदाना जी द्वारा दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री सत्येंद्र भड़ाना जी द्वारा ध्वजारोहण किया गया तथा विद्यार्थियों ने परेड करते हुए सलामी दी। इसके पश्चात् बच्चों द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। जिसमे  देश भक्ति गीत व नृत्य प्रस्तुत किए गए। विद्यार्थियों ने जुडो कराटे द्वारा स्वयं की आत्म रक्षा की शिक्षा भी दी जिसे   देख सभी हर्षित हुए।

इस अवसर पर सूरजकुंड इंटरनेशनल स्कूल के मुख्य निदेशक एवं वरिष्ठ अधिवक्ता श्री सत्येंद्र भड़ाना जी ने सभी को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी तथा विद्यार्थियों  को संबोधित करते हुए कहा कि यह दिन हम सबके जीवन में परिवर्तन लाया था। गणतंत्र दिवस  भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है। जो प्रति वर्ष २६ जनवरी को हम मनाते हैं। इसी दिन सन १९५० को भारत सरकार अधिनियम एक्ट (१९३५) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था। एक स्वतंत्र गणराज्य बनने और देश में कानून का राज स्थापित करने के लिए संविधान को २६ नवंबर १९४९ को भारतीय संविधान सभा द्वारा अपनाया गया और २६ जनवरी १९५० को लागू किया गया। यह संविधान भीम राव अंबेडकर की अध्यक्षता में २ वर्ष ११ माह १८ दिन में लिखा गया इसलिए हमें इसका सम्मान करना चाहिए।

इसके पश्चात् स्कूल की प्रधानाचार्या श्रीमती शुभ्रता सिंह ने कहा कि २६ जनवरी के दिन पूरे देश में हर्षोल्लास का माहौल होता हैं। आज राजपथ पर सैनिकों द्वारा परेड, भारत की क्षमता व शक्ति का प्रदर्शन हमें प्रेरणा देता हैं। देश के लिए अपने कर्तव्यों का बोध करता हैं। आप सब अपने अधिकारों को समझें व स्वतंत्रता पूर्वक जीवन यापन कर सके ऐसे नियमो व अधिकारों को हमारा संविधान उजागर करता हैं। आप सब अपने देश, संविधान व सैन्य बल का सम्मान करें तथा आप सब के जीवन में प्रत्येक गणतंत्र दिवस नवीनता व प्रगति लाए।