विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस

0
340

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर-२ में गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित विशेष कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल के चेयरमैन श्री धर्मपाल यादव ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री यादव ने छात्रों को स्वतंत्रता के संघर्ष और संविधान निर्माण के बारे में जानकारी दी। श्री यादव ने  कहा कि गणतंत्र दिवस हमारा राष्ट्रीय पर्व है। इस दिन भारत का संविधान लागू हुआ था जिसका निर्माण बाबा साहब भीम राव अंबेडकर ने किया था। गणतंत्र दिवस के रूप में 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि 26 जनवरी 1930 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में अंग्रेजों से पूर्ण स्वराज का प्रस्ताव पास हुआ था। इसलिए 26 जनवरी का दिन भारत का संविधान लागू करने के लिए चुना गया। गणतंत्र को प्रजातंत्र, लोकतंत्र या जनतंत्र भी कहते हैं यानि यहां प्रजा यानी लोगों का शासन होता है। श्री यादव ने कहा कि हमें इस दिन देश सेवा, प्रगति और तरक्की के योगदान के बारे में कदम उठाने चाहिए और इन पर अमल करना चाहिए। इस अवसर पर ग्रेड 1 के बच्चों ने अच्छे आदर्शों पर एक सुंदर शो की प्रस्तुति दी। ग्रेड 2 के बच्चों ने देश की एकता, अखंडता और विविधता पर सुंदर नृत्य किया। साथ ही ग्रेड 3 और छात्राओं ने भी देशभक्ति गीतों की धुनों पर बेहद अनोख ढंग से नृत्य आदि की प्रस्तुति दी जिसने सबका मन मोह लिया। कार्यक्रम को स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव ने संबोधित करते हुए कहा कि लंबे समय तक हमारी मातृभूमि भारत पर ब्रिटीश शासन का राज रहा है। लंबे संघर्ष के बाद भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने अंतत:15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी दिलाई। आजादी के लगभग ढाई साल बाद यानी कि 26 जनवरी 1950 को भारत देश ने अपना संविधान लागू कर दिया। और भारत ने खुद को एक लोकतांत्रिक गणराज्य के रुप में घोषित कर दिया। भारतीय संविधान को हमारी संसद ने लगभग 2 साल 11 महीने और 18 दिनों के बाद 26 जनवरी 1950 को पास किया गया। भारत ने खुद को संप्रभु, लोकतांत्रिक, गणराज्य घोषित कर दिया। जिसके बाद 26 जनवरी को भारत के लोगों द्वारा गणतंत्र दिवस के रुप में मनाया जाने लगा। यह सब हमें बहुत संघर्षों से मिला है इसलिए हमें इसका सम्मान और रक्षा करनी चाहिए। कार्यक्रम को स्कूल की डॉयरेक्टर सुनीता यादव व प्रिंसिपल ज्योति चौधरी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर बच्चों के अभिभावक एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहे।