जे.सी. बोस विश्वविद्यालय में विश्व पर्यावरण दिवस पर सेमिनार आयोजित 

0
333

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 6 जून जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद की राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) यूनिट “विश्व पर्यावरण दिवस” के उपलक्ष्य में “वर्तमान पर्यावरण परिदृश्य तथा सतत विकास” विषय पर एक सेमिनार का आयोजन किया।
इस अवसर पर एनसीबी बल्लभगढ़ के पूर्व महानिदेशक डॉ के. मोहन मुख्य अतिथि और पूर्व महाप्रबंधक डॉ. एन.के. तिवारी मुख्य वक्ता रहे। एनएसएस समन्वयक डॉ. प्रदीप के डिमरी ने अतिथि और प्रतिभागियों का स्वागत किया। डॉ. तिवारी ने अपने संबोधन में स्थिरता और जैव विविधता के बारे में बताया। इस अवसर पर बोलते हुए. डॉ के. के. मोहन ने सतत विकास में सीमेंट उद्योग की भूमिका पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का समन्वय एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डॉ. बिंदू मंगला द्वारा किया गया।
इस अवसर पर एनएसएस वालंटियर्स की पांच टीमों के साथ एक पैनल चर्चा भी आयोजित की गई। टीमों को पर्यावरण के विषय जैसे भूमि, उर्जा, संजीवनी, स्वच्छता और जलजीवन पर नामित किया गया था, जिसमें स्वच्छता तथा प्रदूषण एवं इसके नियंत्रण पर एक स्वस्थ चर्चा हुई। सत्र संवादात्मक रहा। सभी प्रतिभागियों ने अपने घर, परिसर और आसपास की सफाई और स्वच्छता का संकल्प लिया।
कार्यक्रम में विश्वविद्यालय तथा अन्य शिक्षण संस्थानों के लगभग 100 एनएसएस वालंटियर्स और कार्यक्रम अधिकारियों ने हिस्सा लिया। कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कार्यक्रम के आयोजन के लिए एनएसएस टीम के प्रयासों की सराहना की और उन्हें स्वच्छता अभियान को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित किया।