सुषमा गुप्ता ने तैयार की जा रही खाद्य सामग्री का किया निरीक्षण

0
243
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 29 मार्च। नोवल कोरोना वायरस संक्रमण को केन्द्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय आपदा व प्रदेश सरकार द्वारा महामारी घोषित किए जाने तथा अपने घरों की ओर पलायन कर रहे लोगों को ऐसा नहीं करने के आह्वान के बाद रेडक्रास सोसायटी विभिन्न एनजीओ और सामाजिक संगठनों के सहयोग से इन जरूरतमंद गरीब लोगों की मदद के लिए जी-जान से जुट गई है। इसी कड़ी में हरियाणा रेडक्रास सोसायटी की वाइस चेयरमैन सुषमा गुप्ता ने जरूरतमंद लोगों को भरपेट खाना उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। सुषमा गुप्ता ने रविवार को सेक्टर-12 में तैयार की जा रही खाद्य सामग्री का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ जिला रेडक्रास सोसायटी के सहायक पुरुषोत्तम सैनी भी मौजूद रहे। सुषमा गुप्ता ने सभी एनजीओ व सामाजिक संगठनों द्वारा रेडक्रास की मदद करने के लिए आभार व्यक्त किया है। उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग पर पलायन कर अपने घरों के लिए पैदल ही भूखे-प्यासे आ-जा रहे जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट, बिस्कुट के पैकेट तथा फेस मॉस्क आग्रहपूर्वक रोककर उपलब्ध कराये और पलायन करने वालों से आग्रह किया कि वे ऐसा न करें उन्हें यहां रहने-खाने का उचित प्रबंध किया जाएगा, क्योंकि उनके इस तरह पलायन करने से कोरोना वायरस संक्रमण के और अधिक फैलने का खतरा बढ़ सकता है।
सुषमा गुप्ता ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्रों से पलायन कर अपने घरों के लिए पैदल ही भूखे-प्यासे आ-जा रहे जरूरतमंदों को भरपेट भोजन उपलब्ध कराने का रेडक्रास ने फैसला लिया है। इसके लिए शिवालिक पेंट्स के मालिक नरेंद्र अग्रवाल ने सक्रिय भूमिका निभाते हुए एक ट्रक आटा, एक ट्रक बिस्कुट व एक लाख फेस मॉस्क उपलब्ध कराये हैं तथा भविष्य में और सामग्री उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है।
वाइस चेयरपर्सन सुषमा गुप्ता ने बताया कि राहत शिविर में इस बात का भी विशेष रूप से ध्यान रखा जा रहा है कि राहत सामग्री वितरण के दौरान सरकार द्वारा जारी हिदायतों का कड़ाई से पालन होता रहे ताकि नोवल कोरोना वायरस संक्रमण से हर किसी का बचाव हो सके। उन्होंने बताया कि राहत सामग्री वितरित करते वक्त वह और उनके सभी साथी मॉस्क व गलव्स पहनने के साथ-साथ पूरे शरीर पर प्लास्टिक युक्त लिबास पहने हुए हैं और किसी भी जरूरतमंद को जरूरत की सामग्री उपलब्ध कराने से पहले साबुन से उनके हाथ अच्छे से धुलवाकर सैनेटाइजर प्रयोग में लाने के बाद ही राहत सामग्री उपलब्ध करा रहे है क्योंकि बचाव में ही बचाव है।
वहीं समाजसेवी प्रमोद गुप्ता ने गौशाला को 5 लाख रुपए का दान दिया। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश नोवल कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहा है। ऐसे में इस राष्ट्रीय आपदा के दौर में हम सभी को राष्ट्रहित में सर्वोपरि रखना चाहिए और जातपात, क्षेत्रवाद, वर्गवाद, पार्टीबाजी जैसे संकीर्ण विचारों से ऊपर उठकर जरूरतमंद लोगों की सेवा करने के लिए जगह-जगह राहत शिविरों में अपना यथा संभव आर्थिक योगदान देने के साथ-साथ श्रमदान करने में आगे आना चाहिए। उन्होंने जिले में कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे डाक्टरों, नर्सों, पुलिस कर्मियों व अन्य सामाजिक संगठनों का भी हार्दिक आभार व्यक्त किया।