स्वतंत्रता संग्राम में तिगांव के लोगों ने निभाई थी अह्म भूमिका : ललित नागर

0
422

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : स्वतंत्रता सेनानी स्व. चेतराम अधाना की धर्मपत्नी बत्तो देवी का बुधवार को स्वर्गवास हो गया। वह 96 वर्ष की थी और अपने पीछे चार पुत्र स्व. प्रीतम, बदले सिंह, मामराज और फिरे अधाना सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गई है। उनका दाह संस्कार तिगांव के श्मशान घाट में पूरे रीति-रिवाज के साथ किया गया। इस मौके पर तिगांव विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक ललित नागर ने श्मशान पहुंचकर उन्हें माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान पूर्व विधायक ललित नागर कहा कि देश को आजाद कराने में स्वतंत्रता सेनानियों ने जो कुर्बानियां दी है, हम उसे कभी नहीं भूल सकते। स्वतंत्रता संग्राम में तिगांव क्षेत्र के लोगों की अह्म भूमिका थी, जो हमारे लिए गर्व का विषय है इसलिए हम सभी को स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान करते हुए उनके आदर्शाे को अपनाना चाहिए और देशहित में कार्य करने का संकल्प लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता सेनानी स्व. चेतराम अधाना ने देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दी थी, जो आज भी पूरे क्षेत्र व जिले के लिए प्रेरणास्त्रोत बने हुए है। ललित नागर ने शोक संतप्त अधाना परिवार का ढांढस बंधाते हुए परमपिता परमात्मा से इस दुख की घड़ी में उन्हें शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की। इस मौके पर नायब तहसीलदार अजय कुमार के अलावा तिगांव क्षेत्र के साथ-साथ आसपास के मौजिज लोग मौजूद थे।