मतदान केंद्रों के हिसाब से यूनिट कमेटी गठित की गई हैं : उपायुक्त यशपाल

0
283

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 1 मई उपायुक्त यशपाल ने कहा कि सरकार ने कोविड-19 व लाॅकडाउन की परिस्थितियों के दौरान असंगठित श्रमिकों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए कोविड-19 फायनेंशियल स्पोर्ट टू अनआरॅगनाइज्ड वर्कर्स पोर्टल शुरू किया था, जिस पर पंजीकरण वाले जिला से संबंधित असंगठित श्रमिकों की जांच पारदर्शी ढंग से कर सर्वे की रिपोर्ट जल्द से जल्द दें।
उपायुक्त शुक्रवार को लघु सचिवालय के सभागार में जिला स्तर पर गठित चार प्रकार की कमेटियों के अध्यक्षों की मीटिंग को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि सरकार की ओर से जिला में चार तरह की कमेटियां गठित की गई है। जोनल कमेटियां अपने नीचे सेक्टर व यूनिट कमेटियों को उचित प्रशिक्षण दें तथा प्रत्येक पंजीकरण करने वाले व्यक्ति की वास्तविक जानकारी का डाटा उपलब्ध कर निर्धारित प्रोफार्मा में भरकर भेजें। उन्होंने बताया कि इसमें असंगठित श्रमिक की वार्षिक आय एक लाख 80 हजार से अधिक न हो। वह किसी भी सरकारी योजना का लाभपात्र न हो। उसके निवास स्थान से संबंधित जानकारी आदि प्रोफार्मा में दर्ज जानकारी के लिए सर्वे का कार्य जल्द पूरा करें। उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से इन असंगठित श्रमिकों को एक हजार रूपए मासिक वितीय सहायता प्रदान की जाती है। इसके लिए अलावा इन्हें डिस्ट्रेस कूपन के माध्यम से राशन भी उपलब्ध करवाया जाएगा।
उपायुक्त ने कहा कि जिला में स्थापित मतदान केंद्रों के हिसाब से यूनिट कमेटियों गठित की गई हैं। एक कमेटी के पास औसतन 250 परिवार आएंगे। इस कमेटी में करीब 8 सदस्य हैं। इस हिसाब से असंगठित श्रमिकों का सर्वे का कार्य जल्द पूरा करना संभव है। इस कार्य में पूरी पारदर्शिता बरती जाए तथा रिपोर्ट सत्य व निष्पक्षता पर आधारित हो। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्प आरके सिंह ने भी सभी कमेटियों के अध्यक्षों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। मीटिंग में एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, नगर निगम से संयुक्त आयुक्त सतबीर मान व विरेंद्र सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।