प्रेमी और उसके दोस्तो के साथ मिलकर पत्नी ने ही की थी पति की हत्या

0
300
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : थाना डबुआ पुलिस ने सराहनीय कार्य करते हुए एक कलयुगी पत्नी को पति की हत्या करने के जुर्म में गिरफ्तार किया है।
महिला की पहचान सपना (बदला हुआ नाम) के रूप में हुई है।
आपको बताते चलें कि आरोपी महिला ने अपने मुंह बोले चाचा हरजीत, और अपने प्रेमी नितिन और नितिन के दोस्त विष्णु, दीपक, विनीत, के साथ मिलकर दिनांक 11/12 जनवरी की रात को मृतक दिनेश निवासी सैनिक कॉलोनी की डंडा सर में मारकर एवं गला दबाकर हत्या कर दी थी और नाश को डबुआ एरिया में बह रहे गंदे नाले में डाल दिया था।
दिनांक 28 तारीख को थाना डबुआ पुलिस को सूचना मिली थी कि गंदे नाले में एक व्यक्ति की लाश पड़ी हुई है।
लाश का पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शिनाख्त के लिए बीके अस्पताल में रखवा दिया था।
पुलिस ने अपने सूत्रों के माध्यम से पता किया तो पता चला कि सैनिक कॉलोनी में रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर दिनेश कई दिनों से गायब है।
मामले को देख रहे अनुसंधान अधिकारी एडिशनल एसएचओ सब इंस्पेक्टर यासीन खान मृतक दिनेश के घर पर गया और उसकी पत्नी से जब पूछा कि क्या यह आपका पति है तो वहीं पर आरोपी हरजीत सिंह जो कि अपने आप को महिला का चाचा बताता था (दूर का रिश्तेदार) भी बैठा हुआ था दोनों ने दिनेश की लाश को पहचानने से मना कर दिया था।
पुलिस ने जब नाश के बारे में मृतक दिनेश के दोस्तों से शिनाख्त कराई तो उन्होंने अपने दोस्त को पहचान लिया और कहा कि वह कई दिनों से गायब था।
पुलिस को तभी से ही महिला के ऊपर शक हो गया था।
पुलिस ने महिला को थाने बुलाया और सख्ती से पूछताछ की तो महिला ने बताया कि उसी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर शव को नाले में फेंक दिया था।
एडिशनल एसएचओ डबुआ ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतक दिनेश और महिला आरोपी ने 2010 में लव मैरिज की थी दोनों ही सैनिक कॉलोनी में रहते थे।
मृतक दिनेश और महिला आरोपी सैनिक कॉलोनी में महिला आरोपी के भाई के घर में किराए पर रहते थे। मृतक दिनेश प्रॉपर्टी डीलर का काम करता था।
आरोपी नितिन, दिनेश का दोस्त था और मृतक दिनेश के घर पर आता जाता था। वहीं से ही उसकी दोस्ती महिला आरोपी के साथ हो गई थी।
महिला आरोपी ने अपने पति मृतक दिनेश को रास्ते से हटाने के लिए अपने मुंह बोले चाचा हरजीत और अपने प्रेमी नितिन और नितिन के दोस्तों के साथ मिलकर योजना बनाई थी।
योजना के तहत दिनांक 11/12 जनवरी की रात आरोपी महिला और उसके प्रेमी नितिन और नितिन के दोस्त विनीत, विष्णु ने मिलकर मृतक दिनेश के सर में डंडा मारकर और गला दबाकर उसकी हत्या कर शव को बोरी में डालकर बाथरूम में छुपा दिया था।
योजना के तहत हरजीत को भी हत्या के समय आना था लेकिन वह समय पर नहीं आया था। आरोपी सुबह 4:00 बजे पहुंचा था। अन्य आरोपियों ने हरजीत से यह कह दिया था कि हमने काम कर दिया है अब लाश को तुम ठिकाने लगा दो।
आरोपी हरजीत, विष्णु, और अन्य ने मिलकर बाथरूम में से लाश निकाल कर उसको पॉलिथीन और रजाई के कवर और कंबल में लपेटकर बेड के बॉक्स में रख दिया था और पूरे घर की सफाई कर दी थी।
जब लाश में से बदबू आने लगी तो महिला आरोपी ने हरजीत और अपने प्रेमी नितिन को कहा कि लाश को जल्दी से जल्दी ठिकाने लगाओ, जिस पर हरजीत दिनांक 18 जनवरी को रहेडा लेकर आया और नितिन के दोस्त दीपक, नितिन के साथ मिलकर लाश सहित पूरे बेड को रेहड़ी में रख कर ले गए और नाश को डबुआ एरिया में गंदे नाले में फेंक दिया था।
आरोपियों से जब लोगों ने पूछा कि बेड कहां लेकर जा रहे हो तो उन्होंने कहा कि इसकी मरम्मत करानी है।
अनुसंधान अधिकारी यासीन खान ने बताया कि आरोपी प्रेमी नितिन ने हत्या करने के लिए अपने दोस्त विष्णु को ₹41000 दिए थे जो कि ₹41000 महिला आरोपी ने मनी ट्रांसफर के जरिए डाले थे।
महिला से पूछताछ के दौरान पता चला कि महिला आरोपी के कोई भी बच्चा नहीं है। महिला आरोपी और मृतक दिनेश की रजामंदी पर उन्होंने 5 साल की लड़की को गोद लिया हुआ है। मृतक दिनेश को शराब का नशा करने की लत थी।
पुलिस ने उपरोक्त मुकदमे में महिला आरोपी को गिरफ्तार कर वारदात में प्रयोग किया गया डंडा बरामद कर आज महिला को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।
उन्होंने बताया कि वारदात में शामिल आरोपी नितिन, हरजीत, विनीत, विष्णु, दीपक के ठिकानों पर लगातार रेड की जा रही है आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।