प्रशासन ने विद्यार्थियों को किताबें उपलब्ध करवाने के लिए की पुख्ता व्यवस्था विद्यार्थी घर पर ही मंगवा सकेंगे किताबें

0
574

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj :18 अप्रैल। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान विद्यार्थी घर बैठे पढ़ाई कर सके, इसके लिए घर बैठे पढ़ाओ अभियान शुरू हो चुका है। विद्यार्थियों को पढ़ाई करने के लिए किताबों की समस्या आड़े न आये। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा जिलाभर में  बुक डिपों की सूची तैयार की जा रही है। यह बुक डिपो विद्यार्थियों की मांग पर घर पर ही किताबें पहुंचाने का कार्य करेंगे। आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को किताबें हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई जाएंगी।

उपायुक्त ने बताया कि जो बुक डिपो विद्यार्थियों को यह सुविधा दे सकते हैं, वह अपनी दुकान के नाम व मोबाइल नंबर जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में पहुंचा दें, जिससे कि उन बुक डिपो के लिए दुकान खोलने के लिए प्रशासन द्वारा पास जारी किया जा सके। उपायुक्त ने बताया कि इन बुक डिपो के संचालकों के नाम व मोबाईल नंबर भी सार्वजनिक कर जाएंगे। कोई भी विद्यार्थी इन बुक डिपो संचालकों के मोबाईल नम्बर पर सम्पर्क कर किताबें मंगवाने के लिए ऑर्डर कर सकते है। बुक डिपो के संचालक घरों पर भी किताबें पहुंचाने के लिए सहमत होंगे तो उनकी सहमति के बाद ही जिला प्रशासन द्वारा विद्यार्थियों के घर किताबें पहुंचाने का कदम उठाया जायेगा। उन्होंने बताया कि जिला में किताबों की कोई कमी नहीं है, पर्याप्त मात्रा में सभी बच्चो को क़िताब उपलब्ध करवा दी जाएगी। जिला शिक्षा अधिकारी सतिंदर कौर ने बताया कि कोई भी बुक डिपो जो विद्यार्थियों को किताबों की डिलीवरी दे सकता है, वह जिला शिक्षा अधिकारी के ईमेल पर अपना पता व फोन नंबर भेज सकते हैं। जिला शिक्षा अधिकारी  सतिंदर कौर ने बताया कि उनकी  कार्यालय के मेल [email protected] पर मेल कर सकते है।