उद्योगों के लिए दक्षता और दक्षता के लिए समुचित प्रशिक्षण बेहद जरूरी है : उपायुक्त यशपाल

0
557
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 15 अक्टूबर। उद्योगों के लिए दक्षता और दक्षता के लिए समुचित प्रशिक्षण बेहद जरूरी है। यह विचार उपायुक्त यशपाल हरियाणा स्किल डेवलपमेंट मिशन के तहत डिस्टिक स्किल डेवलपमेंट एजेंसी (डीएसडीए) की सेक्टर-12 कन्वेंशनल हॉल में बैठक को संबोधित करते हुए कहे। उन्होंने औद्योगिक इकाइयों व इनसे संबंधित विभागों के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि औद्योगिक संस्थानों में कौशल विकास के तहत प्रशिक्षित लेबर लगाने से औद्योगिक जगत में पहले से कहीं बेहतर परिणाम आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि छोटे-बड़े सभी उद्योगों में विभिन्न प्रकार का मजदूर कार्य करता है। जिसका तकनीकी व संबंधित ज्ञान से सुसज्जित होना बेहद आवश्यक हैतभी वह उद्योगिक इकाइयों में हो रहे उत्पादन की गुणवत्ता को बनाए रखने में अपना योगदान दे सकते हैं। उपायुक्त ने कहा कि हरियाणा कौशल विकास मिशन की ओर से जिला के युवाओं को समुचित प्रशिक्षण दिलाकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से इस संबंध में आयोजित आज की प्रथम बैठक अत्यंत महत्वपूर्ण है। अतः इससे जुड़े औद्योगिक संगठन व विभागीय अधिकारी अपने से जुड़ी जानकारी को हासिल कर इस मिशन को जिला स्तर पर प्रशिक्षुको को उद्योग आधारित प्रशिक्षण दिलाकर अपनी भूमिका का निर्वाह करें। उन्होंने इसके अतिरिक्त जिले में खाली पड़े सरकारी भवनोंवन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोजेक्ट की पहचान करने और हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में प्रोजेक्ट मैनेजरफरीदाबाद जोन नेहा छाबड़ा द्वारा दी गई प्रजेंटशन से जुड़े महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे कहा कि डिस्ट्रिक्ट रूलर डवलपमेंट एजेंसी से जुड़े परियोजनाओं को आधारभूत रूप से अंतिम रूप दिए जाने के लिए विशेष कार्य योजना बनाकर अधिकारी कार्य करें। इस अवसर पर संबंधित कौशल विकास मिशन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं सूर्य स्कीमसक्षम स्कीमप्रधानमंत्री कौशल विकास योजनाआरपीएल, उद्योग मित्र मॉडल स्किल सेंटरलोक विद्या तथा अप्रेंटिसशिप ऑप्शनल ट्रेड आदि के बारे में भी विस्तार से बताया गया। इस अवसर पर एसडीएम फरीदाबादएसडीएम बल्लभगढ़एसडीएम बड़खलजीएम डीआईसी, अनिल यादवआईटीआई प्रिंसिपल गजेन्द्रटेक्निकल कन्सलटेन्ट सचिन अग्रवालडिस्ट्रिक्ट स्किल कोरडिनेटर नवीन सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।