जे.सी. बोस विश्वविद्यालय को एनीमिया मुक्त बनाने के लिए अभियान का शुभारंभ

0
44

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 5 अगस्त। विश्वविद्यालय को एनीमिया मुक्त बनाने की दिशा में ठोस कदम उठाते हुए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने भारत विकास परिषद फरीदाबाद के सहयोग से आज एनीमिया मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत विश्वविद्यालय परिसर को एनीमिया मुक्त बनाने के लिए जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया।
डॉ. सूरज प्रकाश आरोग्य केंद्र के विशेषज्ञ डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ ने विश्वविद्यालय स्वास्थ्य केंद्र की मदद से आज विश्वविद्यालय का दौरा किया और विश्वविद्यालय की छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण किया। स्वास्थ्य जांच शिविर का संचालन डीन छात्र कल्याण कार्यालय की देखरेख में किया गया।
कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग ने शिविर का जायजा लिया और छात्राओं को स्वास्थ्य जांच के लिए प्रेरित किया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को एनीमिया के प्रति जन जागरूकता पैदा करने और अभियान के सार्थक परिणाम के लिए समर्पित भाव से प्रयास करने के लिए भी कहा। इस अवसर पर डिप्टी डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. अनुराधा पिल्लई तथा चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अंकुर शर्मा भी उपस्थित थीं। कुलपति प्रो. एस.के. तोमर ने छात्राओं की स्वास्थ्य जागरूकता के लिए आयोजित कार्यक्रम की सराहना की।
भारत विकास परिषद फरीदाबाद के राष्ट्रीय संगठन मंत्री श्री राज कुमार अग्रवाल ने बताया कि एनीमिया मुक्त भारत एक ऐसा पोषण जागरूकता कार्यक्रम है जो स्वस्थ जीवन के प्रति लोगों के व्यवहार में बदलाव लाने के लिए चलाया जा रहा है। अभियान का उद्देश्य टेस्ट, ट्रीट और टॉक मैकेनिज्म द्वारा बच्चों, विशेष रूप से किशोरी लड़कियों में एनीमिया की व्यापकता को कम करना है। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान डिजिटल हीमोग्लोबिनोमीटर की मदद से छात्राओं की जांच की जाएगी। आयरन की कमी पाये जाने पर छात्राओं को शरीर में आयरन के स्तर को बढ़ाने के लिए स्वस्थ जीवनशैली अपनाने और आयरन, प्रोटीन और विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थों पर परामर्श प्रदान किया जाएगा।
इस अवसर पर भारत विकास परिषद फरीदाबाद के पदाधिकारी राकेश गुप्ता, दिनेश गर्ग, दिनेश अग्रवाल, बीएम अग्रवाल, तमन्ना अग्रवाल, गरिमा अग्रवाल और पूनम गर्ग भी उपस्थित थीं।