क्राइम ब्रांच 30 ने चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो चोरों को किया काबू

0
232
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा द्वारा शहर में चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए इन वारदातों में संलिप्त आरोपियों की जल्द से जल्द धरपकड़ करने के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच 30 प्रभारी रविंद्र सिंह की टीम ने 20 दिन पहले पुलिस थाना आदर्श नगर एरिया में की गई चोरी के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में जितेंद्र तथा सुरेंद्र का नाम शामिल है। दोनों आरोपी उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के रहने वाले हैं और एक दूसरे को बचपन से जानते हैं। आरोपियों ने दिनांक 22 जनवरी की रात आदर्श नगर एरिया में बंद पड़े एक मकान में चोरी की थी। मकान मालिक घर पर ताला लगाकर शादी में गए हुए थे। रात में आरोपियों ने मकान के दरवाजे पर लगे ताले को देखकर उसमें चोरी करने की योजना बनाई। योजना के तहत आरोपी घर में घुसे और उन्होंने घर से 9.50 लाख रुपए और कीमती आभूषण चुरा लिए। इस मामले में पुलिस थाना आदर्श नगर में चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई।
क्राइम ब्रांच 30 की टीम ने इस मामले में कड़ी मशक्कत करते हुए गुप्त सूत्रों की सहायता से दोनों आरोपियों को दिनांक 6 फरवरी को ऊंचा गांव से गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को अदालत में पेश करके 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि वह कई सालों से फरीदाबाद में काम करते थे। आरोपी जितेंद्र बल्लभगढ़ में फास्ट फूड की रेहडी लगाता था। लॉकडाउन में काम बंद होने की वजह से वह वापस अपने गांव चला गया। गांव में काम न मिलने की वजह से आरोपी 1 महीने पहले वापिस फरीदाबाद आ गए। आरोपी काम की तलाश में थे परंतु उन्हें कोई काम नहीं मिला तो उन्होंने चोरी का रास्ता अपना लिया।
आरोपी चोरी करने के लिए जिस मकान में घुसे थे उन्हें खुद भी अंदाजा नहीं था कि इतने ज्यादा पैसे और कीमती आभूषण उनके हाथ लग जाएंगे। चोरी की वारदात को अंजाम देकर आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस पूछताछ के दौरान सामने आया कि आरोपियों के खिलाफ इससे पहले भी चोरी के तहत दो मुकदमे दर्ज है।इन तीनों मुकदमों में पुलिस द्वारा आरोपियों के कब्जे से 7.85 लाख रुपए तथा सारे आभूषण बरामद कर लिए गए हैं। पूछताछ पूरी होने के पश्चात दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है।