क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम ने अवैध हथियार के जुर्म में तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

0
482
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 15 जुलाई। हम बात करने जा रहे हैं क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम के बारे में जिन्होंने अवैध हथियार के जुर्म में 3 आरोपियों को तीन देसी पिस्टल एवं तीन जिंदा कारतूस 315 बोर सहित गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है।
गिरफ्तार आरोपी
1. सदानंद उर्फ गोलू पुत्र धर्मेंद्र निवासी अखबापार जिला गोरखपुर यूपी, हाल निवासी आदर्श नगर पलवल।
2. अभिषेक उर्फ जुम्मा पुत्र रामसेवक निवासी सेक्टर 2 पलवल।
3. मोनू  पुत्र सुभाष निवासी गांव छायसा फरीदाबाद।
केस नंबर 1
डीसीपी अपराध श्री मकसूद अहमद ने जानकारी देते हुए बताया कि क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम ने सदानंद उर्फ गोलू को 13 जुलाई को गिरफ्तार किया था।
आरोपी के खिलाफ क्राइम ब्रांच की टीम ने थाना खेड़ी पुल में आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 222 दर्ज कराया गया है।
आरोपी शराब पीने का आदि है आरोपी की मां पलवल जिले के एक अस्पताल में स्वीपर का काम करती है।
पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि आरोपी एक होटल पर काम करता है। होटल से काम करके आरोपी रात को 2:00 बजे घर जाता था रास्ते में कोई लूटपाट ना करें इस वजह से सोनू नाम के एक लड़के से एक देसी पिस्तौल व एक जिंदा कारतूस 315 बोर लॉकडाउन से पहले 15 सो रुपए में खरीदा था।
सोनू नाम का लड़का जिससे आरोपी ने हथियार खरीदा था वह होटल पर खाना खाने के लिए सप्ताह में एक दो बार आता था, लॉक डाउन के बाद जब से होटल खुले हैं सोनू दिखाई नहीं दिया है।
आरोपी सोनू की धरपकड़ के लिए क्राइम ब्रांच के द्वारा छापेमारी जारी है।
केस नंबर 2
आरोपी अभिषेक उर्फ जुम्मा नशे का आदी है जिसको सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर दिनांक 13 जुलाई को गिरफ्तार किया था। आरोपी लड़ाई झगड़ा करता रहता है अप्रैल 2019 में कैंप पलवल इलाके में एक झगड़ा हुआ था।
झगड़े में आरोपी के अलावा और भी लोग शामिल थे। इस झगड़े के केस में आरोपी गिरफ्तार हो चुका है यह मामला पलवल जिला अदालत में विचाराधीन है।
उपरोक्त लड़ाई झगड़े के केस में आरोपी ने दूसरे पक्ष से हथियार छीना था जिस पर आरोपी के खिलाफ थाना कैंप पलवल में वर्ष 2019 में मामला दर्ज किया गया था आरोपी इस केस में जमानत पर है और अदालत में मामला विचाराधीन है।
यह हथियार आरोपी ने दादागिरी के उद्देश्य से अपने पास रखा था जिसको क्राइम ब्रांच 85 ने बरामद किया है। आरोपी के खिलाफ थाना खेड़ी पुल में आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 223 दर्ज कर इसी मुकदमे में गिरफ्तार किया है।
आरोपी से उपरोक्त मुकदमें में एक देसी पिस्तौल व एक जिंदा रौंद 315 बोर बरामद किया गया है।
केस नंबर 3
तीसरा आरोपी मोनू भाटी को क्राइम ब्रांच की टीम ने 14 जुलाई को गिरफ्तार किया है आरोपी के खिलाफ थाना सराय ख्वाजा में आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा नंबर 161 अंकित किया है।
आरोपी मोनू भाटी पहले गांव छायंसा में गायों की जमीन पर खेती करने का काम करते थे।
जब उस जमीन पर दूसरा पक्ष खेती करने लगा इस वजह से आरोपी उपरोक्त ने यह अवैध हथियार करीब 7 महीने पहले अलीगढ़ एक शादी में जाने के दौरान 2500 रुपए में खरीदा था।
आरोपी से एक देसी पिस्तौल व एक जिंदा कारतूस 315 बोर बरामद कर लिया गया है।
सभी उपरोक्त गिरफ्तार तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेजा जा चुका है।
पुलिस आयुक्त महोदय ने बताया कि शौकिया तौर पर, सुरक्षा, रंजिश के चलते अवैध हथियार रखना भी युवाओं को अपराध की दुनिया में ले जाता है।
उन्होंने कहा कि अवैध हथियार रखना खुद एक अपराध, और इससे अन्य अपराध का जन्म होता है।
पुलिस, फरीदाबाद शहर में अपराध किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगी।