घर से 5 लाख के आभूषण चोरी करने वाले आरोपी को क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव ने किया गिरफ्तार, आरोपी के एक साथी को पहले ही भेजा जा चुका है जेल

0
81

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : डीसीपी क्राइम मुकेश कुमार मल्होत्रा के दिशा निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच ऊंचागांव प्रभारी जगबीर सिंह की टीम ने 5 लाख रुपए के कीमती आभूषण चोरी के मामले में शामिल दूसरे आरोपी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम रणजीत उर्फ जथरा है जो दिल्ली की गड्ढा कॉलोनी का रहने वाला है जो दिल्ली फरीदाबाद बॉर्डर के पास स्थित है। आरोपी ने अपने साथी आरोपी नीरज के साथ मिलकर दिनांक 10 सितंबर की रात विनयनगर एरिया में स्थित एक मकान से कीमती आभूषण, मोबाइल, एटीएम कार्ड तथा जरूरी कागजात चोरी किए थे। इस मामले में पुलिस थाना पल्ला में चोरी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की तलाश शुरू की गई। क्राइम ब्रांच की टीम ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए मामले में शामिल आरोपी नीरज को 19 सितंबर को गिरफ्तार किया था। आरोपी के कब्जे से चोरी का मोबाइल फोन व एटीएम कार्ड बरामद किए गए थे। पुलिस पूछताछ में आरोपी नीरज ने अपने साथी आरोपी रणजीत के बारे में पुलिस को जानकारी दी जिसके पश्चात आरोपी की निशानदेही पर दिनांक 23 सितंबर को आरोपी रणजीत को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। इसके पश्चात चोरी के सामान की बरामदगी के लिए आरोपी रणजीत को 1 अक्टूबर को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें आरोपी ने हरिद्वार से चोरी का सामान बरामद करवाया गया। आरोपी के कब्जे से सोने का 1 हार, 1 गले का लॉकेट, 1 करधन, 1 नथिया, 1 मांग टिक्का, कान के 2 झाले, 1 अंगूठी, कान के 2 सुई धागे, चांदी की 2 पाजेब, 4 बिछुआ, 1 झापड़ी, 1 पेटीएम मशीन तथा तीन साड़ी बरामद की गई। आरोपी ने बताया कि हरिद्वार में उनके कुछ दोस्त रहते हैं जिसके पास उन्होंने सामान रखा था। आरोपी पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी की उम्र लगभग 30 वर्ष और वह स्मैक का नशा करता है तथा नशे की आपूर्ति के लिए चोरी की वारदातों को अंजाम देता है। आरोपी के खिलाफ इससे पहले भी चोरी की धाराओं के तहत 4 मुकदमे दर्ज हैं। आरोपी दिल्ली फरीदाबाद बॉर्डर एरिया में रहते हैं और फरीदाबाद में चोरी की वारदात को अंजाम देने के पश्चात दिल्ली फरार हो जाते हैं और कुछ समय पश्चात वापस आकर फिर से चोरी करते हैं। पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेजा गया।