ईएसएससीआई के नई सीओओ बनी डॉ. अभिलाषा गौड़

0
111

New Delhi Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के अधीन कार्य कर रही इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर स्किल काउंसिल ऑफ इंडिया (ईएसएससीआई) ने आज डॉ. अभिलाषा गौड़ को बतौर चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (सीओओ) नियुक्‍त किया है। मैनेजमेंट क्षेत्र में कुशलता का परिचायक डॉ. अभिलाषा बीते 18 वर्षों से कौशल विकास, कॉरपोरेटऔर शिक्षा के विभिन्‍न क्षेत्रों में काम कर रही है। बतौर सीओओ डॉ. अभिलाषा ईएसएससीआई के संचालन की देखरेख के साथ भारत में इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम डिज़ाइन एंड मैन्युफैक्चरिंग (ईएसडीएम) उद्योग के विकास से संबंधित रणनीतिक मुद्दों पर गवर्निंग काउंसिल के साथ मिलकर काम करेंगी।

देश के इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स क्षेत्र में कौशल की कमी को पूरा करने में ईएसएससीआई महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है। ईएसएससीआई इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स उद्योग, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी), कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय और इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय(एमईआईटीवाई) के साथ मिलकर काम कर रही है ताकि उद्योग को कौशल और पुन: कौशल दोनों सेवाएं प्रदान की जा सकें। ईएसएससीआई ईएसडीएम उद्योग के लिए 10 लाख से अधिक लोगों को कुशल बना चुकी है।

ईएसएससीआई के चेयरमैन और एचसीएल के संस्थापक डॉ. अजय चौधरी ने नए सीओओ डॉ. अभिलाषा गौर का स्वागत और उन्हें शुभकामनाएं दी और बताया कि नए सीओओ का चयन करते हुए ईएसडीएम क्षेत्र के लक्ष्यों को ध्‍यान में रखा गया है। इस क्षेत्र में कौशल विकास की गुणवत्ता पर फोकस किया जा रहा है और देश के युवाओं को वैश्विक स्‍तर की प्रशिक्षण देने की हमारी प्रतिबद्धता को डॉ. अभिलाषा गौड़ बतौर सीओओ आगे बढ़ाएगी।

अपनी नई भूमिका पर टिप्पणी करते हुए डॉ अभिलाषा ने कहा कि भारत सरकार मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया के तहत देश में इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर के डिजाइन और निर्माण पर फोकस कर रही है। इससे इलेक्ट्रॉनिक्स सिस्टम डिज़ाइन और मैन्युफैक्चरिंग (ईएसडीएम) के क्षेत्र में वर्ष 2023 तक मैन्‍युफैक्‍चरिंग एंड एक्सपोर्ट तकरीबन251 बिलियन अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है। ईएसएससीआई इतने बड़े बाजार के लिए कुशल कार्यबल की मांग को पूरा करने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई है कि इंडस्‍ट्री के साथ मिलकर ईएसएससीआई उनकी जरूरतों को पूरा करेगा और देश को स्किल कैपिटल बनाने में अपना योगदान देगा।