फरीदाबाद के अस्पतालों में अब नहीं रहेगी ऑक्सीजन की कमी, सात नए प्लांटों के लिए वर्क आर्डर जारी : यशपाल

0
334

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 25 मई। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला के अस्पतालों में अब वर्तमान व भविष्य के लिए ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी। उन्होंने बताया कि जिला के अस्पतालों में तीन ऑक्सीजन प्लांट शुरू हो चुके हैं और सात नए ऑक्सीजन प्लांटों के लिए वर्क आर्डर जारी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिला में कोविड-19 के मरीजों के लिए भी लगातार घर तक ऑक्सीजन सप्लाई की गई है। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला में 440 लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट ईएसआई मेडिकल कॉलेज में स्थापित किया जा चुका है। इसके साथ ही 200 लीटर प्रति मिनट क्षमता का अक्सीजन प्लांट बीके सिविल अस्पताल में और 50 लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट एशियन अस्पताल में शुरू किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की किसी भी संभावित तीसरी लहर अथवा पीएचसी व सीएचसी स्तर के अस्पतालों में मरीजों के लिए भी अब ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि बीके सिविल अस्पताल परिसर में जल्द ही एनएचपीसी द्वारा 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता का नया ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जाएगा। सीएचसी खेड़ी कला में 200 लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट स्टर्लिंग टूल्स कंपनी द्वारा स्थापित किया जाएगा। सीएचसी पाली में 200 लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट जीईपीआईएल कंपनी द्वारा स्थापित किया जाएगा। एक हजार लीटर प्रति मिनट क्षमता का एक अन्य ऑक्सीजन प्लांट एनएचएआई द्वारा बीके सिविल अस्पताल में स्थापित किया जाएगा। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि 200 लीटर प्रति मिनट क्षमता का एक ऑक्सीजन प्लांट उपमंडलीय अस्पताल बल्लभगढ़ में एचआई टीएस कंपनी द्वारा स्थापित किया जाएगा। पेटीएम कंपनी द्वारा एक हजार लीटर प्रति मिनट क्षमता का एक ऑक्सीजन प्लांट श्री अटल बिहारी वाजपेई मेडिकल कॉलेज छायसा में स्थापित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा चार हजार लीटर प्रति मिनट क्षमता का ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया जाएगा। उपायुक्त ने बताया कि सीएचसी तिगांव, खेड़ी कला, कुराली, पाली, धौज, आनंगपुर, मोहना, पन्हेरा खुर्द व यूएचसी एसजीएम नगर मुजेसर में केंद्रीयकृत गैस पाइपलाइन स्थापित करने के लिए 2 करोड़ 96 लाख 49 हजार 100 रुपए की राशि भी स्वीकृत की गई है। उन्होंने बताया कि जिला में लिक्विड ऑक्सीजन अप्लाई करने के लिए ऑक्सीजन टैंकर भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज मैं 10 किलोलीटर क्षमता का ऑक्सीजन टैंकर मेट्रो अस्पताल में 5.2 किलो लीटर क्षमता का क्योंआरजी मेडिकेयर लिमिटेड में 5.6 किलोलीटर पार्क अस्पताल में 2 किलोलीटर सर्वोदय अस्पताल में 6 किलोलीटर एशियन अस्पताल में 1.9 किलोमीटर और फॉर्टिस एस्कॉर्ट अस्पताल में 2 किलो लीटर क्षमता का ऑक्सीजन टैंकर उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि जिला में 2494 डी टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर, 1492 बी टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर, 225 ए टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर और 368 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध है।