भारत बदल रहा है, घर-घर तिरंगा फहरा रहा है : अजय गौड़

0
265

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : आज सूरजकुंड रोड स्थित श्री सिद्धदाता आश्रम में गुरुमाता अशरफी देवी की तीसरी पुण्यतिथि मनाई गई। इस अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के राजनैतिक सचिव अजय गौड़ ने कहा कि दिव्य विभूतियों के आशीर्वाद से आज देश में राष्ट्रवादी सरकार है, जिसके परिणामस्वरूप घर-घर में तिरंगा फहराया जा रहा है।
उन्होंने आश्रम में अधिपति श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज के साथ भक्तों में तिरंगा वितरित किया। उन्होंने कहा कि आश्रम के संस्थापक वैकुंठवासी स्वामी सुदर्शनाचार्य जी महाराज और पूज्या गुरुमाता ने यहां अपना परिश्रम रूपी तप लगाया है जहां आने वालों की हर मुराद पूरी होती है। ऐसी तपस्थली पर आने वालों की मनोकामना पूरी हो रही हैं वहीं सेवा करने वालों को पुण्य फल प्राप्त हो रहा है।
उन्होंने श्री गुरु महाराज के साथ एक विशाल मैडिकल कैंप का भी उद्घाटन किया। जिसमें 50 से अधिक चिकित्सकों ने लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। इनमें एलौपेथी, होम्योपैथी, आयुर्वेदिक, वैकल्पिक चिकित्सा पद्धतियों के चिकित्सकों ने लोगों की जांच की। वहीं एशियन अस्पताल और अपोलो अस्पताल के चिकित्सकों ने भी लोगों की जांचें कीं।
इस अवसर पर स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने कहा कि धरती पर मां का महत्व भगवान से भी ज्यादा बताया गया है। जब हम संकट में आते हैं तो हमें सबसे पहले मां ही याद आती है, बाद में संकट बढऩे पर भगवान याद आते हैं। उन्होंने कहा कि पुत्र तो कुपुत्र हो सकता है लेकिन माता कभी कुमाता नहीं होती है। इसलिए माता पिता को हमेशा सम्मान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान होते हुए भी श्रीराम सुबह उठकर माता पिता के चरण स्पर्श कर उनका आशीर्वाद लेते थे। उन्होंने सभी उपस्थित भक्तों को अपने माता पिता और गुरु का सम्मान करने की सीख दी।
आज स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी ने पूज्या गुरुमाता की स्मृति में निर्मित स्मृति स्थल पर पहली बार पूजन किया और लोककल्याण के लिए प्रार्थना की। इस अवसर पर हजारों भक्तों ने पहुंचकर मां के चित्र पर पुष्प अर्पित किए और श्री गुरु महाराज से आशीर्वाद प्राप्त किया। सभी के लिए भोजन प्रसाद की व्यवस्था की गई थी। वहीं गायक जसबीर सिंह ने मधुर भजनों से सभी का मन मोह लिया। इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता विजय प्रताप, वरिष्ठ अधिवक्ता अश्वनी त्रिखा भी विनयांजलि के लिए पहुंचे।