इनरव्हील क्लब ने बदलाव हमारी कोशिश ट्रस्ट के साथ मिलकर 1000 कपड़े से बने थैले बनवाए

0
76
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : हम और हमारी टीम पिछले दो साल से लोगों को समझा रहे थे कि प्लास्टिक बैग की जगह कपड़े से बने थैले इस्तेमाल करने चाहिए। 1 जुलाई से सभी जगह सिंगल युज प्लास्टिक बंद होने से हर जगह कपड़े से बने थैले इस्तेमाल में आने लगे। इस प्लास्टिक मुक्त अभियान में बहुत सी संस्थाएं आगे आई। हमारे फरीदाबाद में रोटरी क्लब एक ऐसी संस्था है जो किसी परिचित की मोहताज नहीं है। रोटरी इनरव्हील क्लब जो की महिलाओं का कल्ब है इस कल्ब की महिलाएं हर समय समाज के हित के लिए कार्य करती रही है।
ये समाज सेवा का भाव ही है जो इस कल्ब की महिलाएं प्लास्टिक मुक्त अभियान से जुड़ी और इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष संदिपिका ने बदलाव हमारी कोशिश ट्रस्ट की संस्थापक सुषमा यादव के साथ मिलकर ट्रस्ट की महिलाओं से 1000 कपड़े से बने थैले सिलवाएं और ट्रस्ट की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का कार्य किया।
इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष संदिपिका और उनकी साथी नेन्सी बबर ने सभी कल्ब की महिला सदस्यों को वो थैले बांटे और सभी को प्लास्टिक मुक्त मुहिम के साथ जोड़ा। बदलाव हमारी कोशिश ट्रस्ट की पुरी महिला टीम इनरव्हील क्लब का धन्यवाद करती है। ये एक कोशिश है अपने पर्यावरण को प्लास्टिक मुक्त करने की और महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की।