ठहरने वाले जरूरतमंद लोगों के लिए उचित दूरी बनाए रखना बहुत जरूरी है

0
579

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 30 मार्च। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि कोरोना के संभावित संक्रमण को रोकने के लिए सरकार की ओर से घोषित लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों को ठहरने व खाने-पीने की सुविधा देने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने जिला में 21 अस्थाई आश्रय स्थल बनाए हैं। इन आश्रय स्थलों में बिजली, पानी, शौचालय सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। अलग-अलग स्थानों पर बनाए गए इन आश्रय स्थलों में करीब 1 हजार 984 लोगों के रुकने की सुविधा उपलब्ध है। बाद में लोगों की जरूरत के हिसाब से इन आश्रय स्थलों की संख्या बढ़ाई भी जा सकती है।

उपायुक्त ने बताया कि वहां पर ठहरने वाले जरूरतमंद लोगों के लिए उचित दूरी बनाए रखना बहुत जरूरी है। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आमजन को कोई परेशानी ना हो इसके लिए प्रशासन विशेष ध्यान रख रहा है आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए जिले में पूरा प्रशासन सतर्क है, उन्होंने बताया कि जिला में आए प्रवासी श्रमिकों व अन्य जरूरतमंद लोगों को सहयोग प्रशासन की ओर से दिया जा रहा है और इसी के साथ बहुत सारी सामाजिक संस्थाएं भी इसमें भागीदार बन रही हैं। उपायुक्त ने बताया कि हमारा मुख्य उद्देश्य है कि कोई भी आदमी रात को भूखा ना सोए इसके लिए पूरी मॉनिटरिंग की जा रही है।  सभी खंड के उपमंडल अधिकारियों वह जिला शिक्षा अधिकारी को को निर्देश दिए गए हैं, कि वह अपने अपने हलकों में जाकर निरंतर शेल्टर होम का निरीक्षण करें वह वहां पर रह रहे लोगों को उचित सुविधा दे। उन्होंने बताया कि शेल्टरो में चिकित्सकों की टीम भी जांच के लिए भेजी जा रही है।

उपायुक्त ने बताया कि सभी शहरों में खाने व ठैरने की उचित व्यवस्था के साथ-साथ प्रवासियों के लिए शौचालय ,बिजली व अच्छे बिस्तरों का इंतजाम किया गया है। जिससे वहां पर ठहरने वालों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो। उन्होंने सभी जिला वासियों से आह्वान किया कि वह इस दौरान घर से बाहर ना निकले और अपने घरों में ही रहे।

उन्होंने बताया कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय खवाजा में बनाए गए आश्रय स्थल में 200 लोगों के ठहरने की व्यवस्था है। इसी प्रकार तिलपत विद्यालय में 100, सेहतपुर विद्यालय में 100, पाली स्थित विद्यालय में 100,  राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सेक्टर 21डी में 100, राजकीय मिडल स्कूल बदरपुर सैद में 70, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खेड़ी कला में 100, राजकीय मिडिल स्कूल सेक्टर 31 में 70, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय मेवला महाराजपुर में 100 राजकीय विश्व माध्यमिक विद्यालय ओल्ड फरीदाबाद में सो राजकीय मिडिल स्कूल मरी जा मुझे सर में 70 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भोज में सो राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय एनआईटी-2 मेट्रो में 100, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सीकरी में 100, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय झाड़सेंतली में 70 व राजकीय प्राइमरी स्कूल झाड़सेंतली में 30, राजकीय मिडिल स्कूल बापू नगर में 70, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय फरीदपुर में 100 तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय भाकरी में 100 लोगों व सूरजकुंड के राधा स्वामी आश्रम में 104 लोगों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। इन सभी अस्थाई आश्रय स्थलों के लिए जिला शिक्षा अधिकारी सतविंदर कोर को नोडल अधिकारी बनाया गया है।