जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के लोकपाल ने छात्र शिकायत प्रणाली की समीक्षा की

0
289

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 28 सितम्बर। जे.सी. बोस विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के लोकपाल एवं कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. अरविंद कुमार चावला ने आज विश्वविद्यालय के अधिकारियों के साथ बैठक की तथा विश्वविद्यालय की छात्र शिकायत प्रणाली की समीक्षा की।
बैठक कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की मौजूदगी में हुई। बैठक में डीन ऑफ क्वालिटी एश्योरेंस डॉ. संदीप ग्रोवर, डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर डॉ. लखविंदर सिंह, डीन एकेडमिक अफेयर्स डॉ. विकास तुर्क, परीक्षा नियंत्रक डॉ. राजीव सिंह, कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग और उप कुलसचिव डॉ. मेहा शर्मा भी उपस्थित थे।
विश्वविद्यालय में लोकपाल का प्रावधान अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के निर्देश पर किया गया है। प्रावधानों के अनुसार, लोकपाल एक सेवानिवृत्त जिला न्यायाधीश या सेवानिवृत्त कुलपति या प्रोफेसर होना चाहिए, जोकि विभाग का डीन रहा हो और कम से कम 10 वर्षों तक राज्य या केंद्रीय विश्वविद्यालय या प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रोफेसर के पद पर काम कर चुका हो।
कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने प्रो. चावला को विद्यार्थियों के लाभ के लिए विश्वविद्यालय द्वारा की गई विभिन्न पहलों से अवगत करवाया। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने विद्यार्थियों के समग्र विकास को सुनिश्चित करते हुए शिकायत निवारण, फीस माफी, प्रशिक्षण और प्लेसमेंट और स्टार्ट-अप और इनक्यूबेशन सहित विभिन्न छात्र केंद्रित नीतियां तैयार की हैं। साथ ही, विश्वविद्यालय ने कोविड-19 महामारी के दौरान आर्थिक रूप से कमजोर और जरूरतमंद छात्रों को सहयोग देने के लिए फीस माफी की नीति लागू की तथा विद्यार्थियों की 100 प्रतिशत तक फीस माफ की।
विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने प्रो. चावला को विश्वविद्यालय की छात्र शिकायत निवारण प्रणाली से अवगत कराया। उन्हें बताया गया कि छात्रों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जाता है और इसके समाधान के लिए उचित कार्रवाई की जाती है।
प्रो. चावला ने विश्वविद्यालय की छात्र कल्याण पहलुओं पर प्रसन्नता व्यक्त की और अधिकारियों से शिकायत प्रणाली को और सरल बनाने का आग्रह किया ताकि विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान सरलतापूर्वक हो सके।