एनएसयूआई के संघर्ष के आगे फिर झुकी खट्टर सरकार, छात्रों का आधा जुर्माना माफ : कृष्ण अत्री 

0
247
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : एनएसयूआई फरीदाबाद की मुहिम के चलते हरियाणा की खट्टर सरकार को एक बार फिर से झुकना पड़ा हैं। पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के करीब 350 छात्रों को 4000-4000 रुपये का फायदा हुआ हैं। छात्र पिछले काफी दिनों से वसूले जा रहे अवैध जुर्माने को लेकर एनएसयूआई हरियाणा के पूर्व प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में लड़ाई लड़ रहें थे जिसके कारण छात्रों को जुर्माने में छूट मिली हैं और छात्रों का 1 साल बर्बाद होने से बचा हैं। छात्रों ने नेहरू कॉलेज के प्राचार्य श्री एम० के० गुप्ता जी का धन्यवाद किया और जीत का जश्न मनाते हुए कॉलेज में लड्डू बांटे तथा सरस्वती माता की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया।
एनएसयूआई हरियाणा के पूर्व प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि अकेले पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के करीब 350 छात्र-छात्राओं पर 8000-8000 रुपये का जुर्माना यूनिवर्सिटी की तरफ से NE( नॉट एलिजिबल) और CR(कंटिन्यू रेजिस्ट्रेशन) के नाम पर लगा दिया गया था जिसकों लेकर छात्रों में काफी रोष था। छात्र एनएसयूआई के बैनरतले इस तुगलकी फरमान का पुरजोर तरीके से विरोध कर रहे थे। विरोध के चलते हुए 23 जुलाई को नेहरू कॉलेज के प्राचार्य को हरियाणा के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, एमडीयू के वाईस चांसलर और एग्जाम कंट्रोलर के नाम ज्ञापन सौंपा था लेकिन जब कई दिन बीत जाने के बाद भी समाधान नही हुआ तो 28 जुलाई को केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के कार्यालय का घेराव किया और वहाँ लगभग 6 घंटे तक धरना देने के बाद समस्या का समाधान कर देने के आश्वासन पर धरना खत्म किया। 29-30 जुलाई को यूनिवर्सिटी में छात्रों की मांग पर गहन विचार करने के बाद छात्रों के हित में फैसला लिया गया हैं। एनएसयूआई के बैनरतले छात्रों के द्वारा किये गए प्रदर्शन के कारण ही यूनिवर्सिटी और हरियाणा की भाजपा सरकार को झुकना पड़ा हैं और छात्रों का आधा जुर्माना माफ भी किया हैं।
कृष्ण अत्री ने कहा कि सरकारी कॉलेजों में गरीब, किसान, मजदूर परिवारों के छात्र पढ़ाई करते हैं उनसे इस तरह की अवैध वसूली करना सरासर गलत हैं। अत्री ने कहा कि जब जब हरियाणा की भाजपा सरकार छात्रों के खिलाफ इस तरह के तुगलकी फरमान लेकर आएगी तब तब एनएसयूआई छात्रों की ढाल बनकर खड़ी रहेगीं। उन्होंने कहा कि जुर्माने के 4000 रुपये माफ हो जाने से छात्रों में खुशी की लहर हैं और बाकी बचे हुए जुर्माने के लिए एनएसयूआई का संघर्ष जारी रहेगा।
इस मौके पर अंकुश चौधरी, गुरजीत सिंह, सत्यम शर्मा, जतिन तंवर, अमन पंडित, राहुल वर्मा, नीरज, धर्मेंद्र तेवतिया, विक्रम, यशपाल शर्मा, मनीष कुमार, सौरभ, सुमित तंवर, आरिफ खान, कुलदीप, सुरेंद्र, तन्मय सिंह, सराफत खान, प्रशांत शर्मा, अमित, सचिन ठाकुर, शुभम, ललित शर्मा, सुमित अग्रवाल, तुषार जाखड़, अंशुल, विकास, खुशबू चौधरी, गरिमा चौधरी, तन्नू, काजल, दीप्ति, योगिता, गौरी, अंजली, किरण, संजना, संदीप, दीपक, रोहित आदि मौजूद थे।