आईएएस रानी नागर द्वारा लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच करवाएं खट्टर सरकार : ललित नागर

0
609
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : भारतीय प्रशासनिक सेवा 2014 बैच की हरियाणा कैडर की आईएएस अधिकारी रानी नागर द्वारा आईएएस अधिकारी सुनील गुलाटी पर उत्पीडऩ, शोषण व जान से मारने की धमकी देने के आरोपों के बाद अब सर्व समाज के साथ-साथ गुर्जर समाज के लोग उनके समर्थन में उतर आए है। इसी कड़ी में तिगांव विधानसभा क्षेत्र के पूर्व कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व चीफ सेक्रेटरी से इस मामले में तुरंत संज्ञान लेकर उनके द्वारा लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच करवाकर इसे सार्वजनिक करने की मांग की, जिससे कि लोगों को इस मामले की सच्चाई का पता लग सके। यहां जारी एक पे्रस बयान में पूर्व विधायक ललित नागर ने कहा कि आईएएस रानी नागर गुर्जर समाज की बेटी है और उसके साथ आईएएस अधिकारी द्वारा इस प्रकार से उत्पीडऩ व धमकी देना शर्मनाक घटना है। उन्होंने कहा कि दो वर्ष पूर्व भी रानी नागर ने इस मामले को उठाया था परंतु सरकार ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया और अब फिर से उन्होंने आईएएस अधिकारी पर अपहरण होने का शक, उत्पीडऩ व जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है इसलिए सरकार का दायित्व बनता है कि वह इस मुद्दे पर तुरंत कारगर कदम उठाए। उन्होंने कहा कि रानी नागर उक्त अधिकारी से इस प्रकार उत्पीडऩ है कि उन्होंने यह तक कह दिया है कि अगर सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए तो वह लॉकडाउन के बाद वह अपने पद से इस्तीफा तक दे देगी। श्री नागर ने कहा कि एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देते है, जबकि दूसरी तरफ हरियाणा में आईएएस बेटियां ही सुरक्षित नहीं है तो आम बेटियों की क्या स्थिति होगी, इसका सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मांग की कि वह सरकार के मुखिया है और सबका ध्यान रखना उनका कत्र्तव्य बनता है इसलिए इस विवाद में मध्यस्था करके इसे तुरंत निपटाए और जो कार्यवाही बनती है, जरूरी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि अगर समय रहते हरियाणा सरकार ने कारगर कदम नहीं उठाएं तो किसी भी अप्रिय घटना के लिए सरकार दोषी होगी। उन्होंने आईएएस रानी नागर को आश्वस्त किया कि गुर्जर समाज आपके साथ है और आपको न्याय दिलाने के लिए हर स्तर पर संघर्ष करेगा।