कोरोना महामारी के दौरान वरिष्ठ नागरिकों का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता : उपायुक्त यशपाल

0
207

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 7 जून। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए विशेष एहतियात बरते जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल करने वालों, चलने-फिरने में सक्षम व मानसिक रूप से स्वस्थ वरिष्ठ नागरिकों तथा दूसरों पर निर्भर वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष देखभाल की आवश्यकता है।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि कोरोना के मद्देनजर 60 वर्ष से अधिक आयु वाले तथा स्वास्थ्य कारणों से संवेदनशील वरिष्ठ नागरिकों को विशेष देखभाल की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि आमजन, वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण के कार्य में लगे गैर सरकारी संगठन बुजुर्गों की विशेष देखभाल करें। उन्होंने बुजुर्गों की देखभाल करने वालों के लिए सलाह दी है कि वरिष्ठ नागरिकों की मदद करने से पहले उन्हें अपने हाथ अच्छी प्रकार धो लेने चाहिए। इसी प्रकार, वरिष्ठ नागरिकों के संपर्क में आने के दौरान अपने मुंह व नाक को कपड़े या मास्क से ढक कर रखें। वरिष्ठ नागरिकों द्वारा लगातार इस्तेमाल की जाने वाली वस्तुओं जैसे छड़ी, वॉकर, व्हील चेयर व शैया मलपात्र आदि को नियमित अंतराल पर साफ करते रहें। इसी प्रकार बुजुर्गों के हाथ भी नियमित रूप से धुलवाते रहें और यह सुनिश्चित करें कि वे पर्याप्त मात्रा में भोजन व पानी लेते रहें और उनके स्वास्थ्य पर नजर बनाए रखें। यदि बुजुर्ग बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ महसूस कर रहा है तो उसके ज्यादा निकट न जाएं। ऐसी स्थिति में हेल्पलाइन पर संपर्क करें और उसे चिकित्सक को दिखाएं। बिना हाथ धोए बुजुर्गों को न छुएं।

उन्होंने कहा कि चलने फिरने में सक्षम व मानसिक रूप से स्वस्थ वरिष्ठ नागरिकों को सलाह दी गई है कि वे अपने घरों में ही रहें और बाहर से मिलने-जुलने के लिए आने वालों से मिलने से परहेज करें। यदि मिलना आवश्यक हो तो कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें। किसी से भी हाथ न मिलाएं। अपनी आंखों, मुंह व नाक को बार-बार न छूएं। बिना परामर्श कोई भी दवा न लें। सामान्य चैकअप आदि के लिए बार-बार अस्पतालों में न जाएं। एकांत से बचने के लिए पेंटिंग करने, पुस्तक पढने व संगीत सुनने जैसी हॉबी बनाएं तथा तंबाकू, शराब व अन्य नशीले पदार्थों से दूर रहें। उपायुक्त ने बताया कि यदि वरिष्ठ नागरिक अकेले रह रहे हैं तो अपने किसी स्वस्थ पड़ोसी की मदद ले सकते हैं। वरिष्ठ नागरिक घर पर चहलकदमी, योग व कसरत करते रहें। खाना खाने से पहले और वॉशरूम जाने के बाद अपने हाथों की सफाई अवश्य करें। वे छींकते व खांसते समय टिश्यू पेपर, रुमाल आदि का प्रयोग करें और इस्तेमाल के बाद इनका उचित निष्पादन करें। घर पर ताजा व पोषक भोजन ग्रहण करें। प्रतिदिन ली जा रही दवाओं को लेते रहें। अपनी सेहत पर नजर रखें और यदि बुखार, खांसी व जुकाम की शिकायत महसूस हो तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क करें। आवश्यकता होने पर अपने परिजनों (जो साथ नहीं रह रहे), रिश्तेदारों व मित्रों से फोन व वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपर्क बनाते रहें।

इसके साथ ही उपायुक्त ने वरिष्ठ नागरिकों से अपील की है कि वे अपना टीकाकरण अवश्य करवाएं और अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र में जाकर कोरोना रोधी वैक्सीन अवश्य लगाएं। उन्होंने कहा कि व्यक्ति का कोई दुष्प्रभाव नहीं है। इसलिए लोग अफवाहों पर ध्यान ना दें और जल्द से जल्द अपना टीकाकरण करवाते हुए सुरक्षा कवच धारण करें।