दिल्ली-बड़ौदरा-मुंबई एक्सप्रेसवे को फरीदाबाद शहर की जीवनरेखा बनाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाएं अधिकारी: मूलचंद शर्मा

0
295

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 09 नवंबर। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि फरीदाबाद से गुजरने वाला दिल्ली-बड़ौदरा-मुंबई एक्सप्रैस वे शहर के लिए लाईफलाईन बनने जा रहा है। इस हाईवे से शहर के लोगों को अधिक से अधिक लाभ मिले और बाद में ट्रैफिक व अन्य कोई दिक्कत न हो इसके लिए सभी विभागों के अधिकारी बेहतर तालमेल कर कार्य करें। परिवहन मंत्री मंगलवार को लघु सचिवालय के प्रथम तल स्थित कांफ्रेस हाल में एक्सप्रेस हाईवे निर्माण कार्य की समीक्षा कर रहे थे।

परिवहन मंत्री ने कहा कि यह हाईवे शहर के बाईपास के पर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह हाईवे शहर के बीचों-बीच गुजर रहा है और इसके दूसरी तरफ ग्रेटर फरीदाबाद भी बड़ी तेजी के साथ विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा कि हाईवे के दोनों तरफ बड़ी संख्या में नगर निगम के ट्यूबवेल, डिस्पोजल, सीवरेज लाईन, रैनीवैल सप्लाई, बिजली सप्लाई सहित कई जनता से जुड़ी हुई सुविधाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि हाईवे निर्माण के दौरान इन सभी सुविधाओं को पहले विकसित किया जाए और उसके बाद पुराने स्ट्रक्चर हटाएं जाएं।

मीटिंग में उन्होंने हाईवे पर बन रहे इंट्री व निकासी प्वाईंटो पर भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि एक बार हाईवे बनने के बाद उसमें बदलाव करना बहुत मुश्किल हो जाता है। ऐसे में हाईवे पर ऐसी सभी जगहों पर इंट्री व निकास की व्यवस्था दी जाए जिससे लोगों को ज्यादा दूर तक घूम कर न आना पड़े। उन्होंने शहर में दिए जाने वाले सभी छह इंट्री व निकास की क्रमशः समीक्षा करते हुए ट्रांसपोर्ट नगर सहित बल्लभगढ़ व शहर के दूसरे स्थानों पर अतिरिक्त पुल व स्ट्रक्चर की व्यवस्था भी योजना में शामिल करने के निर्देश दिए। जेवर एयरपोर्ट के लिए बनने वाले एक्सप्रेस वे को लेकर भी उन्होंने कहा कि इस हाईवे के एलाईनमेंट को मास्टर प्लान 2031 के साथ मिला लिया जाए। इसके साथ ही इस हाईवे में भी अधिक से अधिक स्थानों पर लोगों को सुविधा मिले इस बात का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि सभी विभागों के अधिकारी बैठकर पूरी कार्ययोजना की पुनः समीक्षा करें और वह तीन सप्ताह बाद दौबारा से कुछ दिन बाद इसकी फिर से समीक्षा करेंगे। इस अवसर पर उपायुक्त जितेंद्र यादव, एचएसवीपी की प्रशासक मोनिका गुप्ता, एचएसवीपी के एस्टेट आफिसर अमित गुलिया, एनएचआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर नीरज, सीनियर टाउन प्लानर रेनु, एचएसवीपी के अधीक्षक अभियंता राजीव शर्मा, कार्यकारी अभियंता अजीत सिंह, पीडब्लूडी के कार्यकारी अभियंता प्रदीप संधू सहित नगर निगम के अधिकारी भी मौजूद थे।