धूम फिल्म की तर्ज पर चोरी व लूट की वारदातों को अंजाम देने वाली ठक–ठक गैंग के तीन सदस्यों को क्राइम ब्रांच सेंट्रल ने पकड़कर किया पिंजरे में कैद

0
298
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह द्वारा जिले में चोरी व लूट की वारदातों पर लगाम लगाने के लिए आरोपियों इस प्रकार के अपराधों में संलिप्त आरोपियों की धरपकड़ के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेंट्रल की टीम ने फरीदाबाद में पिछले करीब एक साल से चोरी व लूट की वारदातों में शामिल ठक–ठक गैंग के तीनों सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में विशाल, साहिल तथा रूबन का नाम शामिल है। आरोपी विशाल और साहिल दोनों भाई हैं तथा फरीदाबाद के पल्ला तथा आरोपी रूबन दिल्ली का रहने वाला है।
पुलिस ने एक हफ्ते पहले गुप्त सूत्रों की सहायता से तीनों आरोपियों को पल्ला थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया जब वह एक लूट की वारदात को अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे
आरोपी बहुत ही शातिर किस्म के अपराधी है जिनके खिलाफ लूट तथा चोरी के 11 मुकदमे फरीदाबाद के विभिन्न थानों में दर्ज हैं।
आरोपियों के कब्जे से 8 लैपटॉप, 80 हजार रूपए नगद, वारदात में प्रयोग एक FZ मोटरसाइकिल तथा एक स्कूटी बरामद की है।
चोरी तथा लूट की वारदातों को अंजाम देना इनका पेशा है। आरोपी विशाल इस गैंग का मुखिया है जो वारदात की योजना बनाता है जिसके पश्चात तीनों आरोपी मिलकर वारदात को अंजाम दे देते हैं।
वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने बहुत ही अनोखा तरीका अपनाया था। आरोपियों ने धूम फिल्म की तर्ज पर हाईवे के आसपास के क्षेत्रों में वारदात को अंजाम देखकर भागने का प्लान बनाया होता है। इनमें से एक आरोपी स्कूटी लेकर आसपास निगरानी रखता है और किसी के आने पर तुरंत अपने साथियों को सूचित कर देता है। इनके पास एक FZ मोटरसाइकिल जिसका पिकअप बहुत अधिक होता है इसलिए वारदात को अंजाम देने के पश्चात यह पलक झपकते ही वह गायब हो जाते हैं।
आरोपी सुनसान रास्ते पर चल रहे वाहनों को रोकने के लिए कई तरीके अपनाते हैं जिसमें वह वाहनचालक को टायर पंचर की बात कहकर उसे रुकवा लेते हैं या उसके गाड़ी के शीशे पर तेल छिड़क देते हैं या सुनसान जगह पर खड़ी गाड़ी का शीशा तोड़कर गाड़ी में रखा सामान पल भर में गायब कर देते हैं
एक सप्ताह पहले आरोपी इसी प्रकार एक वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे कि गुप्त सूत्रों ने इसकी सूचना क्राइम ब्रांच को दी जिसपर तुरंत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच आरोपियों को मौके पर ही दबोच लिया और उन्हें हिरासत में लेकर अदालत में पेश किया गया जहां आरोपियों को 6 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया।
पुलिस रिमांड के दौरान आरोपियों से मामले में गहनता से पूछताछ की गई और उनसे पूर्व में की गई 11 वारदातों में लूट व चोरी किए गए सामान की बरामदगी की गई।
गिरफ्तार किए गए आरोपियों में आरोपी विशाल और रोहित भाई हैं और तीनों आरोपी नशा करने के आदी हैं तथा अय्याशी की जिंदगी व्यतीत करने के चक्कर में इस प्रकार की वारदातों में को अंजाम देते हैं।
पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपियों को दोबारा अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।