डी. ए. वी. शताब्दी महाविद्यालय में पाँच दिवसीय प्रोफेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम “स्कॉलरी पब्लिकेशंस” का आयोजन

0
559

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : डी. ए. वी. शताब्दी महाविद्यालय में पाँच दिवसीय प्रोफेशनल डेवलपमेंट प्रोग्राम –“स्कॉलरी पब्लिकेशंस” का शुभारम्भ किया गया। इस कार्यक्रम का संचालन पांच दिनों तक  रोजाना शाम 4:00 बजे से  5:30 बजे तक किया जायेगा। इस कार्यक्रम में प्रतिदिन रिसर्च एक्सपर्ट्स “स्कॉलरी पब्लिकेशंस” विषय पर परिचर्चा करेंगे व अपनी प्रस्तुति देंगे। इस कार्यक्रम के पहले दिन की मुख्य वक्ता डॉ जे. एस. गुणवती (अस्सोसिएट प्रोफेसर, हेड- डिपार्टमेंट ऑफ़ सोशल वर्क(ऐडेड) मद्रास स्कूल ऑफ़ सोशल वर्क) रहीं। डी. ए. वी. शताब्दी महाविद्यालय की कार्यकारी प्राचार्या -डॉ सविता भगत जी ने मुख्य वक्ता का स्वागत किया। प्राचार्या महोदया जी का इस कार्यक्रम के आयोजन का मुख्य उद्देश्य रिसर्च स्कॉलर्स एवं प्रोफेशनल्स के रिसर्च एवं पब्लिकेशन कौशल को निखारना एवं बारीकियों की समझ विकसित करना था।

कार्यक्रम का विषय ” फ्रॉम रिसर्च टू पब्लिकेशन -प्रैक्टिकल इनसाइट्स ” था। इस कार्यक्रम में भारत के विभिन्न राज्यों के अलावा विदेशों से भी लगभग 200 रिसर्च स्कॉलर्स एवं प्रोफेशनल्स ने ज़ूम के माध्यम से ऑनलाइन जुड़कर भाग लिया। मुख्य वक्ता ने विषय वस्तु पर परिचर्चा की व उल्लेखनीय प्रस्तुति दी और अंत में सभी प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर दिए।

कार्यक्रम के दूसरे दिन डॉ रूपाश्री बराल (एसोसिएट प्रोफेसर- डिपार्टमेंट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज -आई आई टी मद्रास, चेन्नई) मुख्य वक्ता रही। दूसरे दिन कार्यक्रम का विषय “राइटिंग फॉर पब्लिशिंग इन स्कोलरी जर्नल्स” था। मुख्य वक्ता ने बहुत आसान शब्दों में विषय सम्बन्धी अपने ज्ञान और अनुभव को साँझा किया व विस्तृत प्रस्तुति दी। श्रीमती उत्तमा पांडे ने कार्यक्रम में मध्यस्थ की भूमिका निभाई। इस कार्यक्रम के मुख्य संरक्षक-पदम् श्री डॉ पूनम सूरी जी (प्रेजिडेंट- डी. ए. वी. सी. ऍम. सी) , संरक्षक-डॉ सविता भगत (कार्यकारी प्राचार्या- डी. ए. वी. शताब्दी महाविद्यालय), संयोजिका -श्रीमती अंकिता मोहिंद्रा (विभागाध्यक्षिका-बी. बी. ए.), सह- संयोजिका- डॉ प्रिया कपूर (सहायक प्रोफेसर) रहे। कार्यक्रम में श्री प्रमोद कुमार, श्री दिनेश कुमार, श्रीमती रितु सचदेवा  एवं श्रीमती उत्तमा पांडे सहयोगी रहे।