26 गांव के पंच सरपंचों ने दिया उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को ज्ञापन, नगर निगम में नहीं होना चाहते शामिल

0
593
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 गांव को फरीदाबाद नगर निगम में शामिल नहीं करने को लेकर गांव के पंच सरपंचों का एक प्रतिनिधि मंडल हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला जी से उनके दिल्ली स्थित आवास पर मिला इस अवसर पर सरपंचों ने उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला जी को बताया कि उनके गांव को नगर निगम में शामिल किया जाने की प्रक्रिया चल रही है और सरकार उनको जबरदस्ती नगर निगम में लेना चाहती है जबकि कोई भी गांव वासी नहीं चाहते कि उनकी पंचायतों को नगर निगम में शामिल किया जाए वे चाहते हैं कि उनके ग्राम पंचायत को पहले की तरह ही पंचायत रहने दिया जाए ताकि उनके गांव का ज्यादा विकास हो सके और नगर निगम में शामिल किए जाने को लेकर उनकी ग्राम पंचायतों ने यह प्रस्ताव भी पारित किया है कि वह नगर निगम में जाना नहीं चाहते, इस मौके पर माननीय उप मुख्यमंत्री जी को वह पत्र भी सौंपा गया जो युवाओं ने अपने खून से लिखा था और साफ-साफ कहा गया कि हम किसी भी कीमत पर अपने गांव नगर निगम में नहीं देंगे
इस अवसर पर सरपंचों ने जिला अध्यक्ष अरविंद भारद्वाज के नेतृत्व में एक ज्ञापन भी उप मुख्यमंत्री जी को सौंपा
सरपंच एसोसिएशन के प्रधान महिपाला आर्य  ने बताया कि उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला जी ने सभी सरपंचों को यह आश्वासन दिया कि वे उनकी इस बात पर अधिकारियों से चर्चा कर आपकी जो समस्या है उसका समाधान कराएंगे
युवा अध्यक्ष जसवंत पवार ने कहा कि उप मुख्यमंत्री जी ने सभी पंच सरपंचों को आश्वस्त किया है कि किसी भी ग्राम पंचायत को बिना उसकी मर्जी के नगर निगम में शामिल नहीं किया जाएगा कोई भी गांव जबरदस्ती नगर निगम में नहीं जाएगा हमारा मकसद गांवों का विकास करना है ना कि उनका विकास रोकना और जो ग्राम पंचायत ग्राम सभा का रेजूलेशन नगर निगम के खिलाफ देगी उस गांव को नगर निगम में शामिल नहीं किया जाएगा,  लेकिन अगर फिर भी सरकार इन गांवों नगर निगम में लेती है तो हम सभी ग्रामवासी मिलकर सरकार के खिलाफ आंदोलन करेंगे
सरपंच एसोसियशन जिला प्रधान महिपाल आर्य, युवा पंचायत अध्यक्ष जसवंत पवार चंदावली, भगत सिंह सिरोही, धीरज यादव,प्रेम धनकड़, यशपाल यादव, नरेश पंडित फरीदपुर,  ब्लॉक सदस्य राजकुमार गोगा, निशार खान सरपंच, गुलशन कीन्हा सरपंच, किशन सिंह चहल, रण सिंह सरपंच, नरेश सिरोही सरपंच, सचिंन चंदीला बडोली, विक्रांत गौड, राधे पंडित तिलपत,  कृष्ण यादव सरपंच, टेकचंद सरपंच, राजबीर नागर नीमका, प्रेम बोहरे सरपंच, गिर्राज यादव सरपंच, राजवीर सरपंच मुजेडी, कमांडो ज्ञानचंद, दुष्यंत, राहुल कोशिक, सुंदर कपासिया, नंदकिशोर शर्मा पूर्व सरपंच, ताराचंद मालिक पूर्व सरपंच, ज्ञानचंद सैनी सहित सैंकड़ों मौजीज मौजूद थे।