8 दिन से लापता 11 वर्षीय किशोर को पुलिस थाना एनआईटी ने ग्वालियर से सकुशल बरामद कर किया परिजनों के हवाले

0
95

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए पुलिस थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर सुनीता की टीम ने लापता हुए 11 वर्षीय नाबालिक किशोर को गवालियर से बरामद कर परिजनों के हवाले करने का सराहनीय कार्य किया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि दिनांक 23 जून को पुलिस थाना एनआईटी में लापता किशोर के पिता ने शिकायत दी जिसमें उसने बताया कि उनका 11 वर्षीय लड़का राहुल (बदला हुआ नाम) 22 जून की सुबह खेलते खेलते घर से गायब हो गया। उन्होंने राहुल को ढूंढने की बहुत कोशिश की परंतु उन्हें उसके बारे में कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई। उन्होंने बताया कि उनका बेटा काफी भोला भाला है और उन्हें उसकी चिंता हो रही है कि यदि वह किसी गलत आदमी के हाथ लग गया तो उसका जीवन बर्बाद हो सकता है। लड़के के परिजनों में उसे ढूंढने की हर संभव कोशिश की, अपने दोस्तों, रिश्तेदारों में हर जगह पता किया परंतु उन्हें कोई सफलता हाथ नहीं लगी। मामले की गंभीरता को देखते हुए थाने में मुकदमा दर्ज करके लड़के की तलाश शुरू की गई। थाना पुलिस द्वारा लड़के के परिजनों से उसकी फोटो तथा उसका आधार कार्ड का नंबर लेकर पुलिस के सोशल मीडिया ग्रुप में भेजकर उसकी तलाश करनी के लिए मदद मांगी तथा इश्तिहार छपवाकर उन्हें बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन इत्यादि सार्वजनिक स्थानों पर लगवाया गया ताकि यदि कोई उसे देखे तो उसके बारे में पुलिस को सूचित कर सके। पुलिस द्वारा किशोर को ढूंढने की कोशिश की जा रही थी कि इसी बीच ग्वालियर जीआरपी पुलिस से सूचना प्राप्त हुई कि बच्चा उनके मिल गया है। फरीदाबाद पुलिस ने ग्वालियर जीआरपी पुलिस के माध्यम से बच्चे और उसके परिजनों की वीडियो कॉल करवाई जिसमें परिजनों ने अपने बच्चे को पहचान लिया। बच्चे की पहचान होने के पश्चात पुलिस टीम उसे लेने के लिए ग्वालियर रवाना हो गई और वहां से बच्चे को बरामद करके फरीदाबाद लाया गया जहां बच्चे का ध्यान रखने की हिदायत देकर उसे सकुशल उसके परिजनों के हवाले किया गया। पुलिस टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए परिजनों ने उनका तहे दिल से धन्यवाद किया।