पुलिसकर्मी ने कूड़ा बीनने वाले एक गरीब व्यक्ति का सड़क पर मिला मोबाइल लौटाया

0
259
Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : आमतौर पर पुलिस महकमे की छवि को नकारात्मक नजरिये से देखा जाता है, जिसमे अक्सर यह देखने को मिलता है कि पुलिस अपना काम ढंग से नहीं करती और रिश्वत लेती है परन्तु फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त कार्यालय के सिपाही कर्मबीर ने ईमानदारी और दृढनिश्चिता की एक ऐसी मिसाल पेश की जो लोगों को ईमानदारी की राह पर चलने के लिए प्रेरित करती हैं।
दरअसल पुलिस आयुक्त कार्यालय में सुबह कार्यालय आते समय सिपाही कर्मबीर को सड़क पर मोबाइल पड़ा हुआ दिखाई दिया।
सिपाही कर्मबीर ने अपना कर्तव्य निभाते हुए मोबाइल को अपने पास न रखकर इसे उसके असल मालिक तक पहुँचाने का निश्चय किया और वहाँ आसपास के लोगों और दुकानदारों से उस फ़ोन के मालिक के बारे में पूछताछ शुरू कर दी। बहुत देर पूछताछ करने के पश्चात् भी फ़ोन का मालिक नहीं मिला।
इसके बाद कर्मबीर मोबाइल को लेकर पुलिस आयुक्त कार्यालय में वापिस लौटे और इसके बारे में सहपुलिसकर्मियों को बताया।
इसी बीच अज्ञात फोन पर एक कॉल आया, कॉल रिसीव कर बात की गई तो वह कॉल फोन मोबाइल के असल मालिक के दोस्त का था। उसने बताया कि नत्थू सिंह जो बड़खल पुल के नीचे झुग्गी में रहता है वह इस मोबाइल का असल मालिक है जो कि कूड़ा बिनने का काम करता है। कर्मबीर ने फोन मालिक के दोस्त को बताया कि यह फोन पुलिस आयुक्त कार्यालय के सामने सड़क पर गिरा पड़ा मिला तथा नत्थू सिंह को अपना मोबाइल वापस लेने के लिए संपर्क करने को कहा। पुलिसकर्मी कर्मबीर ने नत्थू सिंह से मिलकर उनको उनका फोन लौटाया।
इस दौरान नत्थू सिंह ने बताया कि वह रोजाना की तरह सुबह-सुबह कूड़ा बिनने के लिए घर से निकला था और उनका मोबाइल कहीं गुम हो गया है। इसके पश्चात् वह बहुत ही ज्यादा परेशान हो गया था क्योंकि उसने बताया कि वह मुश्किल से ही अपने परिवार का पालन पोषण कर पाता है और अचानक से उसका मोबाइल जो कि उसके लिए बहुत ही कीमती वस्तु है और बहुत ही मेहनत करने के बाद पैसे इक्कठे करके खरीदा था उसके गुम हो जाने के बाद वह काफी निराश और हताश सा हो गया था।
नत्थू सिंह ने मोबाइल वापस लेते समय पुलिसकर्मचारी कर्मबीर को नम आंखों से भगवान का फरिश्ता बताते हुए कहा कि मुझ गरीब द्वारा अब दोबारा ऐसा मोबाइल नहीं खरीदा जाता और आजकल मोबाइल एक बहुत ही ज्यादा जरूरत की वस्तु हो गई है आपने मुझे मेरा मोबाइल वापस देकर मुझ गरीब पर बहुत बड़ी मेहरबानी की है।
उधर पुलिस कर्मचारी कर्मबीर ने नत्थू सिंह को भविष्य में अपना मोबाइल संभालकर रखने की हिदायत देते हुए कहा कि ईमानदार व्यक्ति हमेशा अपने जीवन में तरक्की पाते हैं, और दूसरों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। ईमानदारी से न सिर्फ किसी का भरोसा जीता जा सकता है बल्कि किसी भी रिश्ते को मजबूत किया जा सकता है और आत्मनिर्भर बना जा सकता है।
ईमानदारी के साथ जी गई जिंदगी सही मायने में जिंदगी होती है। इसलिए ईमानदारी का मनुष्य के जीवन में बहुत महत्व है। समाज में इस तरह की घटनाओं से आने वाली नई पीढ़ी को ईमानदारी की राह पर चलने की प्रेरणा मिलती है।