देश में चल रहे फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 अभियान के तहत लिंग्याज विद्यापीठ में हुई दौड़

0
118

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव के जश्न को मनाने के लिए देश भर में फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 लांच किया गया था। जिसके अंतर्गत लिंग्याज विद्यापीठ डीम्ड-टु-बी यूनिवर्सिटी में NSS (राष्ट्रीय सेवा योजना) द्वारा फिटनेस सप्ताह का आगाज किया गया। सप्ताह के प्रथम दिन फ्रीडम रन का आयोजन किया गया। जिसमें 50 प्रतिभागियों ने बढ़- चढ़कर भाग लिया। आयोजन का संचालन असिस्टेंट प्रोफेसर इन इंग्लिश डॉ. रश्मि मनिआर ने किया व इस आयोजन के दौरान स्पोट्स टीचर दीप कुमार ने शपथ दिलवाई। इस दौड़ का शुभारम्भ डाइरेक्टर अकादमिक प्रो. जसकिरण कौर एंव जॉइंट रजिस्ट्रार महेश लाल नौटियाल ने झंडी दिखाकर किया।
दौड़ के दौरान सभी के चेहरों पर उत्साह नजर आया। इस अवसर पर डाइरेक्टर अकादमिक प्रो. जयकिरण कौर ने सभी का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि हमारे लिए सबसे पहले जरूरी है कि हम अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। अगर हम स्वस्थ होंगे तभी हम अपने जीवन में सफल हो पायेंगे। अपने लिए समय निकालना बेहद जरूरी है। कम से कम योगा के लिए तो समय जरूर निकाले। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने देश भर में फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 अभियान
चलाया है। जिसके अंतर्गत ही यूनिवर्सिटी में इस दौड़ का आयोजन किया गया है। अंत में NSS (राष्ट्रीय सेवा योजना) कोऑर्डिनेटर डॉ. अंकुर त्यागी ने सभी प्रतिभागियों एवं संचालक समीति के सभी सदस्यों का धन्यवाद करते हुए NSS के सभी छात्र-छात्राओं का प्रोत्साहन बढ़ाते हुए कहां कि फिटनस सप्ताह के अंतर्गत विभिन्न क्रियाओं का आयोजन किया जायेंगा। जिसमें शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से शक्तिशाली बनने की विभिन्न क्रियाओं के विषयों में प्रशिक्षण दिया जाएगा।
क्या है इसका उद्देशय इसका उद्देश्य कोरोना के समय में लोगों के बीच फिटनेस को लेकर जागरूकता पैदा करना है।
सीमा सुरक्षा बल, भारत तिब्बत सीमा पुलिस और केंद्रीय रिजर्व सुरक्षा बल जैसे सशस्त्र संगठन इस दौड़ में हिस्सा ले रहे हैं। इनके साथ भारतीय रेलवे, सीबीएसई और आईसीएसई स्कूल भी जुड़ें है। NSSफिटनेस कॉपोर्रेट प्रोकैम और गोकी भी इससे जुड़ें हुए हैं। इनके अलावा नेहरू युवा केंद्र संगठन और राष्ट्रीय सेवा योजना के 75 लाख स्वंयसेवक तथा देश भर में भारतीय खेल प्राधिकरण के प्रशिक्षु भी इस दौड़ का हिस्सा बने हुए हैं। यदि हम लोगों को इस दौड़ के लिए उत्साहित कर सके तो यह स्वतंत्रता दिवस की भावना के अनुरूप होगा। हमारे प्रधानमंत्री का यह लक्ष्य है कि फिट इंडिया मूवमेंट देश भर में फिटनेस के प्रति एक आंदोलन बने।