मंदिर श्री बांके बिहारी में छठी पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया

0
138

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : मंदिर श्री बांके बिहारी न बर-5 में श्री सनातन धर्म सभा द्वारा छठी पर्व बड़े धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर झूले में नन्हें कृष्ण कन्हैया जी को विराजमान किया गया और वहां मौजूद सभी श्रृद्वालुओं ने उन्हें झूला झूलाकर आर्शीवाद लिया। इस मौके पर महिला मंडल प्रधान मीनाक्षी गोस्वामी,रेखा आहूजा,प्रीति गौसांई व शोभा दत्ता ने भक्ति गीतों पर नाचकर वहां उपस्थित और लोगों को भी झूमने पर मजबूर कर दिया। इस अवसर पर मंदिर के प्रधान महंत ललित गिरी गोस्वामी ने सभी को छठी पर्व की बधाई देते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में बालक के जन्म के छठे दिन(देव सेन) अर्थात छठी देवी के पूजन का विधान है। उन्होनें कहा कि यह देवी बच्चों की मां के समान उनकी रक्षा करती है,उन्हें स्वस्थ रखती है। इससे बच्चों को पूतना,डाकनी,शाकिनी आदि का भय नहीं रहता। वे सदैव निर्भीक उत्साही और साहसी बने रहते है। इसलिए बच्चों की अनिष्ट शक्तियों से रक्षा हेतू प्रत्येक परिवार में सामूहिक रूप से छठी देवी का पूजन बड़े श्रृद्वाभाव से किया जाता है। ललित गोस्वामी ने कहा कि इसी पर परा का निर्वाह करते हुए माता यशोदा ने अपने लल्ला की सुरक्षा के लिए छठी देवी का पूजन किया था जिससे यह स्पष्ट है कि यह पर परा आज से हजारों वर्षो पूर्व भी मनाई जाती थी। इस अवसर पर पण्डित प्रदीप शास्त्री ने कहा कि आज की नई पीढ़ी इन सब पर पराओं को अपवाद समझकर धीरे धीरे अपनी पर पराओं को भूल रहे है जिस कारण से नाना प्रकार के बिमारियों का जन्म होता है और बच्चों में अच्छे संस्कार नहीं आते। उन्होनें कहा कि यही कारण है कि बच्चे बड़े होकर माता पिता तथा समाज का स मान नहीं करते इसलिए इन पर पराओं का पालन हमें करना चाहिए जिससे बच्चों का हित होगा और समाज का हित भी होगा। इस मौके पर संस्था के सरपरस्त एन.एल गौंसाई,अशोक अरोड़ा,संजय दत्ता,सतीश अरोड़ा,राजीव दत्त,पूूर्व पार्षद नरेश गौंसाई,पूर्व पार्षद चारू गौंसाई, पंडित मनीष दुबे पीयूष गोस्वामी, रितेष गोस्वामी, हिमांक गोस्वामी, उत्सव गोस्वामी,महिला मण्डल प्रधान मीनाक्षी गोस्वामी,रेखा आहुजा,प्रीति गौसांई,शोभा दत्ता,दीपा दत्ता मौजूद थे। अंत में कढ़ी चावल का भी प्रसाद बांटा गया।