संकट की इस घड़ी में हम सरकार के साथ : आफताब अहमद

0
323
Nuh Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 26 मार्च आज देश में कोरोना वायरस से महामारी फैली हुई है, ऐसी स्थिति में हम सभी का दायित्व बनता है कि कोरोना वायरस पीडि़त लोगों की मदद की जाए और इस मदद के लिए सभी लोगों को भी आगे आना चाहिए। उक्त वक्तव्य नूंह विधायक आफताब अहमद ने लॉक डाउन के दौरान लोगों को आ रही समस्यओं की ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री को अवगत कराया। मंडल आयुक्त संजय जून को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर विधायक आफताब अहमद ने किसानों के सामने फसल की कटाई को लेकर आ रही समस्या को लेकर मशीन उपलब्ध कराने की बात की। उन्होंने कहा कि पहले हरियाणा में फसलों की कटाई के लिए पंजाब से मशीनें आती थी, मगर अब वहां लॉक डाउन होने की वजह से मशीनें नहीं आ सकती, इसलिए इसकी कोई व्यवस्था कराने की सरकार से मांग की। उन्होंने पत्र में दिहाड़ीदार मजदूरों को 7500 रुपए महीना आर्थिक मदद दिए जाने एवं नूंह जिले के ड्राइवरों, जोकि देशभर में गाडिय़ां चलाते हैं, उनको घर तक पहुंचाने की व्यवस्था किए जाने की मांग की। श्री आफताब अहमद ने मनोहर सरकार को सुझाव दिया कि नूंह मेवात सहित प्रदेश के सभी जिलों में घर-घर जाकर मास्क पहुंचाने की व्यवस्था की जाए और इन मॉस्कों की निर्धारित कीमत उपभोक्ताओं से ली जाए। इसके अतिरिक्त विधायक महोदय ने आम जनता तक खाने की सामग्री आपूर्ति कराना और गरीब लोगों तक मुफ्त राशन पहुंचाने की व्यवस्था करने की मांग की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी बार-बार प्रदेश सरकार से शराब के ठेकों को बंद करने की मांग उठाती रही है, मगर सरकार इसके प्रति गंभीर दिखाई नहीं देती। आज जब कोरोना जैसी महामारी को लेकर देश विकट स्थिति से जूझ रहा है, ऐसे हालातों में भी प्रदेश सरकार ने शराब को जरूरी सामानों में डाला हुआ है। उन्होंने तुरंत प्रभाव से शराब के ठेकों को बंद करने की मांग की। श्री आफताब ने मुख्यमंत्री से नूंह विधानसभा के शहीद हसन खान मेवाती मेडिकल कॉलेज में वेंटीलेटर सहित अन्य जरूरी मेडिकल उपकरण उपलब्ध कराने एवं डॉक्टरों को उपचार के जरूरी सामान उपलब्ध कराने की मांग की। इसके अतिरिक्त लॉक डाउन जैसी स्थिति में कालाबाजारी करने वाले दुकानदारों पर सख्ती से लगाम कसने की सलाह भी उन्होंने प्रदेश सरकार को पत्र के माध्यम से दी। उन्होंने इस संकट की घड़ी में सरकार के साथ सहयोग एवं समर्थन करने की बात की और प्रदेश की जनता से अपील की, कि डरकर नहीं लडक़र इस कोरोना को हराना है। जहां तक हो सके अपने घरों में रहे, केवल बहुत जरूरी काम होने पर ही घर से निकलें। उन्होंने कोरोना महामारी से लडऩे में आमजन से सहयोग करने की अपील की।