डॉ. अर्चना भाटिया ने 1 मिनट में सांख्यिकी परिभाषा का बनाया नया कीर्तिमान

0
1119

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 1 मिनट में सांख्यिकी की परिभाषाओं का प्रपठन एसोसिएट प्रोफेसर अर्चना भाटिया ने “वुमन रिकार्ड्स और ग्लोबल रिकार्ड्स सेरेमनी” में बनाया एक नया कीर्तिमान एन एच 3 स्थित डीएवी शताब्दी कॉलेज, फरीदाबाद की वाणिज्य विभाग की अध्यक्षा डॉ अर्चना भाटिया ने रविवार को 1 मिनट में सांख्यिकी की परिभाषा का प्रपठन, लेखको के नाम सहित 22 परिभाषाओं का सस्वर पाठन किया और वुमन रिकार्ड्स की 18 परिभाषाओं एवं ग्लोबल रिकार्ड्स की इस 21 परिभाषाओं के मापदंड से अधिक परिभाषाओं का वर्णन सिर्फ एक ही प्रयास में करके एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। जबकि उन्हें इस रिकॉर्ड के लिए तीन प्रयासों की सुविधा उपलब्ध थी।
इस अवसर पर आई.एम.एस.एम.ई ऑफ इंडिया के चेयरमैन मिस्टर राजीव चावला बतौर मुख्य अतिथि एवं दिल्ली गवर्नमेंट के एक्साइज डिपार्टमेंट के डिप्टी कमिश्नर श्री रंजीत सिंह की सम्मानीय अतिथि  के रूप में  उपस्थित रहे|
ग्लोबल रिकार्ड्स एंड रिसर्च फाउंडेशन की ओर से ऑफिशियल निर्णायक की भूमिका में डॉ. सुमन सिंह ने डॉ. भाटिया के  प्रयास को जज किया और अंतिम स्वीकृति प्रदान की। रिकॉर्डधारी डॉ. अर्चना भाटिया का व्यक्तित्व किसी परिचय का मोहताज नहीं है। लगभग 32 वर्षों से शिक्षण कार्य से जुड़े रहने के साथ-साथ डॉ. भाटिया ने नारी सशक्तिकरण और अनेक सामाजिक कार्यों में भी बढ़-चढ़कर योगदान किया है। वह स्वयं नारी सशक्तिकरण से जुड़े मुद्दों पर समाज में चेतना जागरूक करने के उद्देश्य से नारी उत्थान “शिक्षण से सशक्तिकरण” नाम से एनजीओ का संचालन कर रही हैं। कुल 13 किताबो की रचियता डॉ. अर्चना भाटिया ने अपनी संस्था की ओर से 24 बच्चों को स्कॉलरशिप प्रदान की है।
नारी वर्ग को सशक्त करने के लिए और अपने छात्रों को अभिप्रेरित करने के लिए डॉक्टर अर्चना भाटिया पिछले कई वर्षों से पांच निरंतर रिकॉर्ड बना चुकी है। रिकार्ड्स की इसी श्रंख्ला में आज एक छठा रिकॉर्ड स्थापित कर उन्होंने अपनी उपलब्धियों में एक और नगीना जोड़ लिया है। वास्तव में, डॉ. अर्चना भाटिया एक आदर्श शिक्षिका,समाज सेविका,लेखिका एवं कवित्री के साथ-साथ सशक्त स्मरण शक्ति की धनी है जो उनके बहुमुखी व्यक्तित्व और प्रतिभा को सार्थक करता है। उन्होंने समाज में नारियों को शिक्षित एवं सक्षम बनाने का जो बीड़ा उठाया है, उसकी एक झलक उनके कार्यों से ही परिलक्षित होती है। आज के इस रिकॉर्ड सेरेमनी को हिंदी साहित्य अकादमी से सम्मानित कवित्री रश्मि सानन ने बुहत ही सुंदरता से संचालित किया। इसअवसर को एम.एस. मेमोरियल पब्लिक स्कूल की ओर से आयोजित किया गया। इस सेरेमनी के सफलतापूर्वक समापन में डॉ संजीव शर्मा प्रिंसिपल डी ए वी आई एम, डॉ. सविता भगत, डॉ. विजयवन्ति, श्री मनोज अतिरिक्त सामान्य आयकर दिल्ली, डॉ. मीनाक्षी, मिस वंदना, मिस राज्यश्री, मिस रीतू, मिस्टर प्रमोद कुमार, मिस निति नागर, डॉ. प्रिया कपूर का अतुलनीय योगदान रहा। इस रिकॉर्ड सेरेमनी में फेसबुक के माध्यम से 700 से अधिक लोग जुड़े और ज़ूम के माध्यम से 200 से अधिक लोग राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर
जुड़े।