केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा होम आईसोलेशन के बारे में जारी के निर्देशों का करें पालन: उपायुक्त जितेंद्र यादव

0
184

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 15 जनवरी। उपायुक्त जितेंद्र यादव ने कहा है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा कोविड-19 के संदर्भ में दिशानिर्देश जारी किये है। यह दिशानिर्देश कोरोना संक्रमण के बिना लक्षण और हल्के लक्षण वाले रोगियों के लिए जारी किये गये है। जारी निर्देशों के अनुसार ऐसे रोगियों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर 7 दिन तक खुद को क्वारंटीन कर अपनी देखभाल करने की सलाह दी गई है।

उपायुक्त जितेंद्र यादव ने कहा कि यह जानकारी मंत्रालय की वेबसाइट https://mohfw.gov.in पर जाकर होम आईसोलेशन के बारे तथा हेल्पलाइन के बारे में प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि हल्का बुखार, खांसी या कमजोरी महसूस होने को हल्के लक्षण की श्रेणी में रखा गया है। ऐसे मरीज डॉक्टर से परामर्श कर ईलाज ले सकते है। जारी निर्देशों के अनुसार यदि एंटीजन या आरटीपीसीआर रिपोर्ट पॉजिटिव है, लेकिन मरीज का ऑक्सीजन स्तर 93 प्रतिशत से अधिक है या फिर मरीज को बुखार नहीं है या सांंस की तकलीफ नहीं है तो ऐसा मरीज होम आईसोलेशन में जा सकता है। मरीज के साथ परिवार को भी आईसोलेट होना चाहिए। मरीज जिला प्रशासन द्वारा स्थापित किये गये नियंत्रण कक्ष की हेल्पलाइन अथवा ई-संजीवनी के माध्यम से परामर्श ले सकते है। मरीज की देखभाल करने वाले व्यक्ति को वैक्सीन की दोनों खुराक लगी होनी चाहिए। मरीज के चेहरे पर तीन लेयर वाला मास्क होना चाहिए तथा मरीज की 24 घंटे देखभाल करने वाला व्यक्ति होना चाहिए। अन्य सदस्य भी आईसोलेट रहे व अपने लक्षणों की निगरानी रखें। यदि घर में कोई बुजुर्ग व्यक्ति है तो उनकी निगरानी भी रखें।

बॉक्स :-

मरीज से परिवार के दूसरे सदस्य रहे दूर

जिस कमरे में मरीज आईसोलेट है, वहां से घर के अन्य लोगों को दूर रहना चाहिए। रोगी को एक हवादार कमरे में क्रॉस वैंटिलेशन के साथ रहना चाहिए तथा ताजी हवा आने के लिए खिड़कियां खुली रखनी चाहिए। मरीज को पूर्ण आराम करना चाहिए और तरल पदार्थ पीने चाहिए। कम से कम 40 सेकेंड के लिए साबुन व पानी से बार-बार हाथ धोने चाहिए। मरीज को घर के अन्य सदस्य के साथ बर्तन या अन्य सामान सांझा नहीं करना चाहिए। कमरे में बार-बार छुई जाने वाली सतहों जैसे टेबल टॉप, दरवाजा, हेंडल आदि को साबुन अथवा डिटर्जेंट और पानी से सफाई करें। रोगी के कोरोना लक्षणों पर नजर रखी जाये तथा किसी भी लक्षण के बिगड%A