विद्यार्थी विज्ञान मंथन को लेकर जागरूकता कार्यशाला का आयोजन

0
46

Faridabad Hindustan ab tak/Dinesh Bhardwaj : 5 अगस्त। कक्षा छठी से 11वीं कक्षा के स्कूली छात्रों में विज्ञान को लोकप्रिय बनाने के लिए विज्ञान भारती द्वारा चलाये जा रहे विद्यार्थी विज्ञान मंथन 2022-23 कार्यक्रम के प्रति जागरूकता लाने के लिए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा विज्ञान प्रसार और एनसीईआरटी के सहयोग से एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन एवं सरस्वती वंदना से हुआ। इस अवसर पर विद्यार्थी विज्ञान मंथन कार्यक्रम की राष्ट्रीय समन्वयक डॉ. मयूरी दत्त, डॉ अरविंद गर्ग तथा राज्य समन्वयक डॉ रश्मि पुंडीर भी उपस्थित थे। कार्यशाला का संयोजन डॉ सोनिया बंसल ने किया। कार्यशाला में काफी संख्या में स्कूली छात्रों ने हिस्सा लिया।
डॉ रश्मि पुंडीर ने कार्यशाला का संचालन किया तथा विज्ञान भारती के बारे में संक्षिप्त परिचय दिया। उन्होंने बताया कि विज्ञान भारती, जिसे पहले स्वदेशी विज्ञान आंदोलन के रूप में जाना जाता था, एक गैर-लाभकारी संगठन है जो विज्ञान को राष्ट्रवादी ढंग से लोकप्रिय बनाने के लिए काम कर रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय पुनर्निर्माण के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी के माध्यम से स्वदेशी आंदोलन को बढ़ावा देना है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए राष्ट्रीय समन्वयक डॉ अरविंद गर्ग विद्यार्थी विज्ञान मंथन की पहल के बारे में बताया। उन्होंने अवगत करवाया कि विद्यार्थी विज्ञान मंथन की शुरूआत स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा की गई थी, जिसकी संकल्पना छात्र समुदाय के बीच वैज्ञानिक अभिरुचि के साथ मेधावी छात्रों की पहचान करने के लिए की गई थी। सत्र के दौरान डॉ. मयूरी दत्त ने विज्ञान मंथन कार्यक्रम पर विस्तार से जानकारी दी। कार्यशाला प्रश्नोत्तरी सत्र के साथ संपन्न हुई। सत्र के अंत में कार्यक्रम संयोजक डॉ सोनिया बंसल ने धन्यवाद प्रस्ताव ज्ञापित किया।